Sign up for our weekly newsletter

किसानों पर मंडराती आसमानी आफत

2019 में टिड्डियों ने करीब 200 से भी ज्यादा बार हमला किया है| आइये जानते हैं कि क्या जलवायु में आ रहे बदलाव से बढ़ रहे हैं देश में टिड्डियों के हमले? साथ ही जानते है कि देश को इन 2 ग्राम के कीटों से कितना खतरा है

On: Wednesday 03 June 2020
 
किसानों पर मंडराती आसमानी आफत

आमतौर पर देश में औसतन टिड्डी दल 10 से कम बार हमले करता है| पर 2019 से लेकर अब तक उसके हमले बढ़ते ही जा रहे हैं| अंतराष्ट्रीय खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) द्वारा 2014 में जारी एक रिपोर्ट से पता चला है कि इससे पहले 1993 में टिड्डी दल ने इतने बड़े पैमाने पर अपना आतंक फैलाया था| तब उनके हमलों की संख्या 172 आंकी गयी थी| पाकिस्तान से हर वर्ष टिड्डी दल राजस्थान और गुजरात पहुंचता है। आमतौर पर एक टिड्डी का जीवनकाल 90 दिन का होता है। यह जुलाई में आती हैं, अंडे देती हैं और अक्टूबर तक इनकी नई पीढ़ी पाकिस्तान-ईरान को रवाना हो जाती है। टिड्डियों के यह दल हरियाली का पीछा करते हैं और उन इलाकों पर हमला करते हैं, जहां मॉनसून को गुजरे ज्यादा वक्त न हुआ हो, क्योंकि इससे उन्हें आसानी से खाना मिल जाता है, जोकि उनके विकास और प्रजनन करने में मदद करता है ... अधिक पढ़ें...