Sign up for our weekly newsletter

गरीबी दूर करने में अमेरिका को लगेंगे 40 साल, ट्रम्प ने बढ़ाई मुश्किलें

संयुक्त राज्य अमेरिका अपने 17 लक्ष्यों, जिसमें विशेष रूप से पहले लक्ष्य - गरीबी को समाप्त करने के लिए अभी भी संघर्ष कर रहा है

By Lalit Maurya

On: Wednesday 14 August 2019
 
Photo: Getty Images
Photo: Getty Images Photo: Getty Images

संभवतः 2030 तक अमेरिका अपने सतत विकास के 17 लक्ष्यों में से 12 को पूरा नहीं कर सकेगा। इतना ही नहीं, जिस रफ्तार से वह चल रहा है, उसे अपने देश में गरीबी को जड़ से मिटाने में अभी 40 साल और लगेंगे।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा सतत विकास के लक्ष्यों (एसडीजी) को अपनाये हुए लगभग पांच साल हो गए हैं, लेकिन संयुक्त राज्य अमेरिका अपने 17 लक्ष्यों, जिसमें विशेष रूप से पहले लक्ष्य - गरीबी को समाप्त करने के लिए अभी भी संघर्ष कर रहा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अभी हाल ही में एक साल के भीतर लगभग 10 लाख लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकालने के लिए अपनी सरकार की सराहना की थी । लेकिन अपनी पीठ थपथपाने से पहले शायद वह भूल गए कि उनके देश में अभी भी 397 लाख लोग गरीब हैं। यदि ट्रम्प के दावे को सही माने तो इस रफ्तार से अमेरिका को गरीबी खत्म करने में अभी 40 साल और लगेंगे।

अमेरिकी जनगणना ब्यूरो की नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार 2016 से 2017 के बीच अमेरिका करीब 9 लाख लोगों की गरीबी दूर करने में कामयाब रहा था, लेकिन माजूदा आंकड़ों के अनुसार वहां गरीबी से त्रस्त लोगों की संख्या अभी भी जस की तस है। वास्तव में हर आठ में से एक अमेरिकी अभी भी आधिकारिक रूप से गरीब हैं, और दुर्भाग्यवश जिनमें से एक तिहाई बच्चे हैं।

 अमेरिका में घट रही है गरीबी उन्मूलन की दर

जनगणना के आंकड़ों की बारीकी से जांच करने पर पता चला है कि 2014 से अमेरिका में गरीबी उन्मूलन की दर धीमी हो रही है । जहां 2014 से 2015 के बीच गरीबी दर में 1.3 प्रतिशत की कमी आयी थी, वहीं 2016 से 2017 के बीच यह कमी घटकर केवल 0.4 प्रतिशत रह गयी थी।

अमेरिकी इतिहास में, गरीबी दर में सबसे बड़ी गिरावट 1965 से 1966 के बीच दर्ज की गई, जब 1966 में यह 2.6 प्रतिशत अंक घटकर 14.7 प्रतिशत रह गई थी। जबकि 1965 में यह दर 17.3 प्रतिशत थी । इस अवधि के दौरान करीब 47 लाख लोग गरीबी रेखा से बाहर आ गए थे ।

अमेरिकी सामुदायिक सर्वेक्षण (एसीएस) के अनुसार 2008 से 2012 और 2013 से 2017 की अवधि के बीच 2,016 स्थानों पर गरीबी की दर में 6.8 प्रतिशत की कमी अंकित की गयी, वहीं 2,215 स्थानों पर इसमें 7.5 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी। गौरतलब है कि इस सर्वेक्षण में 29,000 स्थानों पर गरीबी की दर का अध्यन किया गया था । सर्वेक्षण के अनुसार टॉड, ओगला लाकोटा और होम्स काउंटी देश की सबसे अधिक गरीबी दर वाले क्षेत्र हैं।  

एसडीजी पर पूरी तरह विफल रही ट्रम्प सरकार

वास्तविकता में अमेरिका का कोई भी शहर सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने के ढर्रे पर नहीं है। वे भुखमरी को कम करने और स्वच्छ ऊर्जा जैसे बेसिक मुद्दों पर भी पिछड़ हुए हैं। जहां देश 17 में से 12 को हासिल करने के लक्ष्य से पिछड़ रहा है। वहीं इनमें से चार (जलवायु परिवर्तन, असमानता में कमी, पानी के नीचे जीवन और लक्ष्य प्राप्ति में सामूहिक साझेदारी) की गति जड़ हो गई है। बाकी शेष आठ लक्ष्यों की स्थिति भी अच्छी नहीं है। कुल मिलकर यह माना जा सकता है कि सतत विकास के लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए अमेरिका द्वारा की गई प्रगति और कोशिशें नाकाफी हैं और ट्रम्प सरकार इसमें पूरी तरह विफल रही है ।