Sign up for our weekly newsletter

कोरोनावायरस को लेकर सतर्क छत्तीसगढ़, नागरिकों के लिए जारी की एडवायजरी

छत्तीसगढ़ में एक संदिग्ध मरीज मिला है लेकिन अभी तक वायरस की पुष्टि नहीं हुई है। एहतियात के लिए निगरानी रखी जा रही है

By Manish Chandra Mishra

On: Wednesday 29 January 2020
 
चीन में कोरोनावायरस से आतंकित लोग बचाव में कई कदम उठा रहे हैं। फोटो: Twitter@geofflo610
चीन में कोरोनावायरस से आतंकित लोग बचाव में कई कदम उठा रहे हैं। फोटो: Twitter@geofflo610 चीन में कोरोनावायरस से आतंकित लोग बचाव में कई कदम उठा रहे हैं। फोटो: Twitter@geofflo610

कोरोना वायरस को लेकर देश के कई राज्य अलर्ट पर हैं। छत्तीसगढ़ में राजधानी रायपुर में चीन से एक महिला वापस आई, जिसे संक्रमण की आशंका थी। डॉक्टरों की एक टीम ने महिला की स्वास्थ्य निगरानी कर रही है। इस बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर जागरुकता और बचाव के लिए मंगलवार को एक एडवायजरी जारी की है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है, जिसमें सामान्य तौर पर जानवरों में बीमारियां होती है। यह वायरस कभी-कभी मनुष्यों में भी संक्रमण करता है।

इस एडवायजरी में कहा गया है कि कोरोना वायरस के प्रमुख लक्षणों में सर्दी, खांसी आना तथा बुखार होना आदि है। इसके अलावा सिर में दर्द होना और गले में खरास आना है। छोटे बच्चे और बुजुर्ग व्यक्तियों में एवं ऐसे व्यक्तियों में जिनमें प्रतिरक्षण क्षमता कम होती है। उन व्यक्तियों को निमोनिया, ब्रोंकाईटीस इत्यादि गंभीर बीमारियां उत्पन्न करता है। यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छीकने से, हवा के द्वारा दूसरे व्यक्ति में फैलता है। संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क से जैसे संक्रामित व्यक्ति के छूने या हाथ मिलाने से होता है।

एडवायजरी संक्रमण से बचने के तरीके भी बताती है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचे, अपने हाथ साबुन से बार-बार धोते रहे। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आंख या नाक को छूने से बचे। सामान्य रूप से सर्दी, खांसी, बुखार होने पर चिकित्सक की सलाह लें एवं घर में आराम करें। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए राज्य सर्विलेंस इकाई छत्तीसगढ़, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के लैंडलाइन नम्बर-0771-2235091 अथवा मोबाइल नम्बर-9713373165 पर संपर्क कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ में एक संदिग्ध मरीज मिला है लेकिन अभी तक वायरस की पुष्टि नहीं हुई है। एहतियात के लिए निगरानी रखी जा रही है। वे कहते हैं कि चीन से छत्तीसगढ़ का सीधा संबंध नहीं है और केंद्रीय स्तर पर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर यात्रियों की गहन जांच हो रही है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने 27 जनवरी को एडवायजरी जारी की थी और सभी जिला स्वास्थ्य अधिकारी और मेडिकल कॉलेज को आइसोलेशन वार्ड बनाने की सलाह दी थी। उत्तरप्रदेश ने भी दो दिन पहले नागरिकों के लिए एडवायजरी जारी की थी।

हालांकि, कोरोनावायरस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ट्रेवल एडवायजरी को लेकर सोशल मीडिया पर कई अफवाह भी फैल रही है। एक अफवाह में कहा जा रहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने वायरस से बचने के लिए गले को हमेशा गीला रखने के लिए कहा है, लेकिन ऐसा कोई सलाह विभाग ने जारी नहीं की है। मंत्रालय की ओर से जारी की गई इस एडवाइजरी में कोरोना वायरस से बचाव के कुछ तरीके भी दिए गए हैं जिसमें साफ-सफाई, बार-बार हाथ धोना, मास्क पहनना, जानवरों से दूरी और कच्चा या अधपका मांस खाने से बचने आदि जैसे सुझाव दिए गए हैं। इसमें कहा गया है कि चीन से वापस आने के एक महीने के भीतर बीमारी के लक्षण दिखे हेल्पलाइन पर संपर्क करें।