बर्ड फ्लू के नए मामले सामने आए

पशुपालन और डेयरी विभाग ने राज्य स्तर पर जांच को प्रोत्साहन देने के लिए राज्यों को परीक्षण प्रोटोकॉल पर परामर्श जारी किया

By DTE Staff

On: Tuesday 12 January 2021
 
Bird flu
राजस्थान के पाली में मृत पक्षियों को बॉक्स में ले जाता वन विभाग का कर्मचारी । फोटो: माधव शर्मा राजस्थान के पाली में मृत पक्षियों को बॉक्स में ले जाता वन विभाग का कर्मचारी । फोटो: माधव शर्मा

12 जनवरी, 2021 तक, राजस्थान के झुंझुनू जिले में एचसीएल-खेतड़ी नगर में मृत कौओं में एविएन फ्लू (एच5एन8) के अतिरिक्त मामलों की पुष्टि हुई है। उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित चिड़ियाघर में मृत कौओं और हवासील तथा हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में जगनोली और फतेहपुर गांव में मृत कौओं में एविएन फ्लू (एच5एन1) की पुष्टि हुई है।

प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि एनआईएचएसएडी (राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान- भोपाल) से भी आज मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले से लिए गए पोल्ट्री के नमूने में एविएन फ्लू (एच5एन1) की पुष्टि हो गई है।

पशुपालन और डेयरी विभाग ने उपयुक्त जैव सुरक्षा सुविधाएं सुनिश्चित करते हुए राज्य स्तर पर जांच को प्रोत्साहन देने के लिए राज्यों को परीक्षण प्रोटोकॉल पर परामर्श जारी किया है।

मृत पक्षियों के नमूनों के माध्यम से महाराष्ट्र में एविएन फ्लू के प्रसार की पुष्टि के बाद केन्द्र के एक दल को महाराष्ट्र और गुजरात के भ्रमण के लिए नियुक्त कर दिया गया है। यह दल इन राज्यों में एआई के प्रमुख केन्द्रों की निगरानी करेगा।

ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स सहित विभिन्न मीडिया फ्लेटफॉर्म्स के माध्यम से एविएन फ्लू के बारे में जागरूकता फैलाने और हालात से निपटने के तरीके जनता के बीच साझा किए जा रहे हैं। राज्यों को पक्षियों को मारने के अभियान के लिए जरूरी पीपीई किट्स और एसेसरीज का पर्याप्त स्टॉक बनाए रखने की सलाह दी गई है।

 

Subscribe to our daily hindi newsletter