Sign up for our weekly newsletter

काेरोना से जंग: डीएमएफ का 30 प्रतिशत पैसा खर्च करेगा राजस्थान

सरकार जमा राशि का 30 फीसदी हिस्सा कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए उपयोग करेगी। इसके आदेश भी जारी कर दिए गए हैं

By Madhav Sharma

On: Tuesday 07 April 2020
 

राजस्थान सरकार कोरानावायरस के रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों में जिला खनिज फाउंटेशन (डीएमएफ) ट्रस्ट में जमा पैसे का इस्तेमाल करेगी। 4 अप्रैल को हुई बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह फैसला किया। सरकार जमा राशि का 30 फीसदी हिस्सा कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए उपयोग करेगी। इसके आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। जिला प्रशासन इस राशि को अपनी हिसाब से खर्च कर पाएंगे। डीएमएफ खनन प्रभावित क्षेत्रों में विकास कार्यों के लिए बनाया गया एक ट्रस्ट है। इस ट्रस्ट में जमा राशि खनन क्षेत्र के हिसाब से प्रत्येक जिले को दी जाती है। इस पैसे का उपयोग खनन से प्रभावित क्षेत्रों में स्कूल, पेयजल, शौचालय, ग्रामीण विकास और सड़क और खनन से विस्थापित हुए लोगों के विकास में किया जाता है।

33 जिलों के पास 2755 करोड़ रुपए

सरकारी और प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही के कारण जिलों के पास यह राशि काफी समय से खर्च ही नहीं की गई है। इसीलिए गहलोत सरकार ने अब बिना उपयोग किए इस फंड को कोरोना से लड़ाई में काम में लेने के निर्देश दिए हैं। राजस्थान के सभी 33 जिलों के पास जनवरी 2020 तक 2755 करोड़ रुपए जमा हैं। यह राशि कोरोना से लड़ने के लिए राजस्थान सरकार की ओर से घोषित किए गए दो हजार करोड़ रुपए से कहीं ज्यादा है। इस तरह प्रदेश के जिला प्रशासन इस राशि का 30 प्रतिशत यानी 826.5 करोड़ रुपए खर्च कर पाएंगे।

जानिए किस जिले के पास कितनी राशि (करोड़ में)

फिलहाल राजस्थान की राजधानी जयपुर में सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज हैं। जयपुर जिले के पास 55.39 करोड़, भीलवाड़ा के पास 841.77, उदयपुर 227.80, अलवर 14.43, डूंगरपुर 3, प्रतापगढ़ 3.06, बांसवाड़ा 14.46, भरतपुर 13.93, धौलपुर 50 लाख, करौली 1.22 करोड़, सवाई माधोपुर 76 लाख, नागौर 33.12, दौसा 2.92, सीकर 7.12, राजसमंद 623.04, जोधपुर 3.69, पाली 147.73, सिरोही 97.08,बाड़मेर 77.24, जालौर 5.26, झुंझुनू 17.35, टोंक 6.63, कोटा 32.87, बूंदी 15.80, झालावाड़ 4.96, बारां 96 लाख, अजमेर 153.47, बीकानेर 25.25, जैसलमेर 35.82, श्रीगंगानगर 4.31, हनुमानगढ़ 4.88, चुरू 1.60, चित्तौड़गढ़ 277.59 करोड़ रुपए डीएमएफटी फंड में जमा हैं। जिले इस राशि में से 30 प्रतिशत का उपयोग कर सकते हैं।

अन्य राज्यों को भी राहत देगा डीएमएफ   

कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए बीते 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन है। राज्य अपने स्तर पर पैसे का इंतजाम कर रहे हैं। धन की इस कमी में डीएमएफ का पैसा बेहद काम आ सकता है। केन्द्र सरकार के अनुसार अब तक 21 राज्यों के 574 जिलों में इस ट्रस्ट का गठन हो चुका है। संसद में सरकार के दिए जवाब के अनुसार इन राज्यों के पास डीएमएफटी फंड में 35,789 करोड़ रुपए जमा हुए हैं और इसमें से ये राज्य सिर्फ 12,391 करोड़ रुपए ही खर्च कर पाए हैं। इस तरह 23,398 करोड़ रुपए 21 राज्यों के पास हैं। यह राशि भारत सरकार की 15 हजार करोड़ की उस राशि से कहीं ज्यादा है जो सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए घोषित की है। 

जानिए किस राज्य के पास डीएमएफटी मे कितनी राशि जमा है

राज्य                      जमा राशि     

आंध्रप्रदेश                 735.77

छत्तीसगढ़                 1622.28

गोवा                       184.58

गुजरात                    431.55

झारखंड                   2654.05

कर्नाटक                  1522.10

महाराष्ट्र                   1119.53

मध्यप्रदेश                 2011.36

ओडिशा                  6707.29

राजस्थान                 2755.15

तमिलनाडु                381.74

तेलंगाना                  2281.96

आसाम                   75.75

बिहार                    72.14

हिमाचल प्रदेश           143.30     

जम्मू-कश्मीर            29.72

केरल                    22.52      

मेघालय                  48.80      

उत्तराखंड                72.36      

उत्तर प्रदेश              456.72

पश्चिम बंगाल             41.27