Sign up for our weekly newsletter

20 फीसदी हृदय रोगियों की मौत के लिए जिम्मेवार है तंबाकू: अध्ययन

दुनिया भर में हृदय रोग से पीड़ित लगभग 19 लाख लोगों की मौत की एक बड़ी वजह यह है कि वे ध्रूमपान भी करते थे

By Dayanidhi

On: Wednesday 23 September 2020
 
Photo: wikimedia commons
Photo: wikimedia commons Photo: wikimedia commons

विश्व स्वास्थ्य संगठन, वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन और न्यूकैसल विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया द्वारा जारी एक नए संक्षिप्त विवरण के अनुसार, दुनिया भर में तंबाकू से होने वाले हृदय रोग से हर साल 19 (1.9 मिलियन) लाख लोग मर जाते हैं।

हृदय रोग से होने वाली पांच मौतों में से एक तंबाकू के कारण होती है। रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है, कि तंबाकू उपयोगकर्ताओं को दिल का दौरा पड़ने के सबसे अधिक आशंका है। धूम्रपान करने वालों को धूम्रपान करने वालों की तुलना में कम उम्र में हृदय संबंधी बीमारियां होने की असार अधिक हैं।

दिन में बस कुछ सिगरेट, कभी-कभार धूम्रपान, या दूसरे के द्वारा किए जा रहे धूम्रपान के धुएं के संपर्क में आने से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन अगर तंबाकू उपयोगकर्ता तुरंत धूम्रपान करना छोड़ देते हैं, तो एक साल बाद उनके हृदय रोग का खतरा 50 फीसदी तक कम हो जाएगा।

वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन टोबैको एक्सपर्ट ग्रुप के चेयरमैन डॉ. एडुआर्डो बियान्को ने कहा तम्बाकू और हृदय स्वास्थ्य को देखते हुए धूम्रपान छोड़ने से लाभ होता है। यदि हृदय रोगी धूम्रपान छोड़ने में विफल होते है तो इसे लापरवाही माना जा सकता है। उन्होंने आगे जोड़ते हुए कहा कि कार्डियोलॉजी सोसाइटी को अपने सदस्यों को धूम्रपान बंद करने के साथ-साथ तंबाकू नियंत्रण के प्रयासों को बढ़ावा देना चाहिए।

रिपोर्ट में बताया गया है कि धुआं रहित तंबाकू प्रति वर्ष कोरोनरी हृदय रोग से लगभग 2 लाख मौतों के लिए जिम्मेदार है। -सिगरेट भी रक्तचाप बढ़ाता है जिससे हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है।

कोरोनरी हृदय रोग क्या है?

कोरोनरी हृदय रोग (सीएचडी) एक ऐसी बीमारी है जिसमें कोलेस्ट्रॉल से बना वसा (फैट) जमा होता है और अन्य सेलुलर सामग्रियों जिन्हें सामूहिक रूप से प्लाक (पट्टिका) कहा जाता है, जो हृदय की सतह पर कोरोनरी धमनियों के अंदर जमा होता है, जिससे धमनियां सिकुड़ जाती है। इससे हृदय में ऑक्सीजन युक्त रक्त का प्रवाह कम हो जाता है, जिससे दिल का दौरा पड़ सकता है। दिल की गंभीर क्षति या अचानक मृत्यु हो सकती है। यह प्रक्रिया अक्सर एक लंबी अवधि में धीरे-धीरे विकसित होती है। कई प्रभावित लोगों को तब पता चलता है जब समस्या गंभीर हो जाती है।

इसके अलावा, उच्च रक्तचाप और हृदय रोग से गंभीर कोविड-19 का खतरा बढ़ जाता है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक सर्वेक्षण में पाया गया है कि इटली में कोविड-19 से मरने वाले लोगों में, 67 फीसदी में उच्च रक्तचाप था और स्पेन में, कोविड-19 से संक्रमित लोग 43 फीसदी हृदय रोग के साथ जी रहे थे।

धुआं रहित तंबाकू और कोरोनरी हृदय रोग

डब्ल्यूएचओ ने अनुमान लगाया है कि दुनिया के कम से कम 38 करोड़ (380 मिलियन) लोग धूम्रपान रहित तंबाकू उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं। जिनमें से 13-15 वर्ष की आयु के 1.3 करोड़ (13 मिलियन) बच्चे और 15 वर्ष और उसे अधिक आयु के 36.7 करोड़ (367 मिलियन) वयस्क इसमें शामिल हैं। यद्यपि धूम्ररहित तंबाकू उपयोगकर्ताओं की सबसे बड़ी संख्या दक्षिण-पूर्व एशिया में है, लेकिन दुनिया के अन्य क्षेत्रों में तंबाकू का उपयोग तेजी से बढ़ रहा है। अध्ययन धूम्ररहित तंबाकू के उपयोग और एशिया में घातक और कम घातक हृदय रोग के बीच संबंध प्रदर्शित करता है।

डॉ. विनायक प्रसाद ने कहा सरकारों का दायित्व है कि वे अपने लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा करें और तंबाकू की महामारी को रोकने में मदद करें। हमारे समुदायों को धूम्रपान मुक्त बनाने से तंबाकू से संबंधित अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या कम हो जाएगी, जो कि वर्तमान महामारी के संदर्भ में पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। डॉ. विनायक प्रसाद, विश्व स्वास्थ्य संगठन में नो टोबैको इकाई का नेतृत्व कर रहे हैं।

हृदय रोग को कम करने के लिए तम्बाकू पर नियंत्रण करना प्रमुख है। सरकार तम्बाकू उत्पादों पर कर बढ़ाकर, तंबाकू के विज्ञापन पर प्रतिबंध लगाने और लोगों को तम्बाकू छोड़ने में मदद करने के लिए सेवाओं की पेशकश करके तम्बाकू उपयोगकर्ताओं की मदद कर सकती है।