Sign up for our weekly newsletter

उत्तरप्रदेश में हैं सबसे अधिक ब्रेस्‍ट और गर्भाशय कैंसर रोगी, यह है अन्य राज्यों का हाल

विश्व कैंसर दिवस: भारत में अब 30 से 50 वर्ष की महिलाओं में ब्रेस्‍ट कैंसर के मामले बढ़ रहे हैं

By Shahnawaz Alam

On: Tuesday 04 February 2020
 
Photo: needpix
Photo: needpix Photo: needpix

कैंसर जागरूकता को लेकर भारत सरकार विशेष मुहिम चला रही है, लेकिन इसका कोई खास असर नहीं हो रहा है। देश की महिलाएं ब्रेस्‍ट कैंसर और गर्भाशय कैंसर की शिकार हो रही है। महिलाओं में ब्रेस्‍ट कैंसर छह फीसदी और गर्भाशय कैंसर करीब 1.2 फीसदी की दर से बढ़ रहा है। महिलाओं में इन दो गंभीर कैंसर की बीमारियों को देखते हुए केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय बीमारियों के पैटर्न को समझने के लिए विशेष अध्‍ययन करवाने जा रहा है।

नेशनल कैंसर रजिस्‍ट्री प्रोग्राम, भारत सरकार और अस्‍पतालों के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2016 से 2018 तक 453109 महिलाओं में ब्रेस्‍ट कैंसर पाए गए है, जबकि 300941 महिलाए गर्भाशय कैंसर से ग्रसित थी। इन तीन वर्षों में ब्रेस्‍ट और गर्भाशय कैंसर के मामले में उत्‍तर प्रदेश देश में अव्‍वल राज्‍य है। इसके बाद महाराष्‍ट्र है। 2018 के आंकड़ों के मुताबिक उत्‍तर प्रदेश में 15.12 फीसदी ब्रेस्‍ट कैंसर और  17.41 फीसदी गर्भाशय कैंसर की मरीज है। जबकि महाराष्‍ट्र में 10.22 फीसदी ब्रेस्‍ट कैंसर और गर्भाशय कैंसर के 8.74 फीसदी मरीज है। सबसे कम मामले पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों (दिल्‍ली को छोड़कर) में है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के कैंसर डिविजन से जुड़े डॉ. गौरव गुप्‍ता बताते है  ब्रेस्‍ट कैंसर और गर्भाशय के कैंसर (बच्‍चेदानी के मुंह का कैंसर) के असल कारणों का अब तक पता नहीं लग सका है। इस पर लगातार शोध किया जा रहा है। ज्‍यादातर ब्रेस्‍ट कैंसर उस हिस्‍से के डक्‍ट (सूक्ष्‍म वाहिनियों) में छोटे कैल्शिफिकेशन (सख्‍त कण) के जमने से या ब्रेस्‍ट के टिश्‍यू में छोटी गांठ के रूप में बनते है और‍ फिर कैंसर में ढलने लगते है। उत्‍तर प्रदेश और महाराष्‍ट्र या पश्चिम बंगाल अधिक आबादी वाले राज्‍य है, इस वजह से यहां कैंसर पीडि़तों की संख्‍या भी अधिक है। इन राज्‍यों की महिलाओं में अब भी अपनी स्‍वास्‍थ्‍य प्रा‍थमिकता सूची में नहीं है, जिससे वह बीमारियों के शिकार हो रहे है। डॉ. गुप्‍ता के मुताबिक, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा 2014 में जारी कैंसर कंट्री प्रोफाइल रिपोर्ट के अनुसार भारतीय महिलाओं में कैंसर के कारण होने वाली मौतों में सबसे ज्‍यादा करीब 21 फीसदी मौते ब्रेस्‍ट कैंसर के कारण होती है।

गुरुग्राम जिला अस्‍पताल के पूर्व कैंसर सर्जन डॉ. एसपी भनोट बताते है कि  भारत में ब्रेस्‍ट कैंसर को लेकर चिंताजनक स्थिति सामने आ रही है। विकसित देशों के मुकाबले अपने यहां कैंसर होने की औसत उम्र में कमी आ रही है। विकसित देशों में 50-60 वर्ष की औसत उम्र में ब्रेस्‍ट कैंसर होने का खतरा होता है, जबकि अपने यहां अब 30 से 50 वर्ष की औसत उम्र में महिलाएं ब्रेस्‍ट कैंसर से पीडि़त हो रही है।

डॉ. भनोट के मुताबिक, भारत में अभी ब्रेस्‍ट कैंसर को लेकर जागरूकता की कमी है। अभी भी महिलाएं ब्रेस्‍ट में होने वाली बदलाव या परेशानियों को लेकर बोलने से झिझकती है। इसकी वजह से 50-70 प्रतिशत ब्रेस्‍ट कैंसर की जांच एडवांस स्‍टेज में आने के बाद होती है। इलाज में अधिक देरी की वजह से रोग बहुत बढ़ चुका होता है और कैंसर के फैलने की संभावना भी बढ़ जाती है। यदि ब्रेस्‍ट कैंसर से असामयिक मृत्यु को कम करना है तो यह जरूरी है कि ब्रेस्‍ट कैंसर की जांच प्रारंभिक स्थिति में जल्दी और सही हो, और सही इलाज मिले।

डॉक्‍टरों के मुताबिक, अधिक उम्र में पहला बच्चा होना, नियमित रूप से स्तनपान नहीं कराना, वजन ज्यादा बढ़ना आदि ब्रेस्‍ट कैंसर के प्रमुख कारण हैं। इसके अलावा अनुवांशिक रूप से भी स्तन कैंसर की बीमारी हो सकती है। जबकि गर्भाशय कैंसर 30 से 35 साल की उम्र की महिलाओं में यह सर्वाधिक होने वाला कैंसर है।

----------------

कैंसर के इलाज के लिए अपर्याप्‍त है व्‍यवस्‍था

भारत सरकार ने कैंसर के प्रति जागरूकता और रोकथाम के लिए राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के तहत वर्ष 2010 में नेशनल प्रोग्राम फॉर प्रिवेंशन कंट्रोल ऑफ कैंसर, डायबिटीज, कार्डियोवेस्‍कुलर डिजिज एंड कंट्रोल कार्यक्रम शुरू किया था, जो अब भी चल रहा है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय द्वारा दिसंबर 2019 में जारी आंकड़ों के मुताबिक, गैर संचारी रोगों के इलाज के लिए अब तक जिले स्‍तर  पर 599 क्लिनिक और सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र स्‍तर पर 3274 क्लिनिक की स्‍थापना की गई है। अधिकांश जिला अस्‍पताल में कैंसर विभाग ही नहीं है, जिसकी वजह से मरीजों की पहचान ही सही समय पर नहीं हो पाती है। बता दें कि नेशनल कैंसर कंट्रोल प्रोग्राम के तहत देशभर में अभी 27 कैंसर सेंटर चिह्नित किए है। जिसमें गंभीर स्थिति में कैंसर के मरीजों का इलाज संभव है।

---------------------------------

कैंसर                       2016          2017        2018

ब्रेस्‍ट कैंसर             142283      150842      159924

गर्भाशय कैंसर          99099      100306      101536

 

ब्रेस्‍ट कैंसर के मामले

 

राज्‍यवार आंकड़े              2016          2017          2018

उत्‍तर प्रदेश                    21376        22737        24181

महाराष्‍ट्र                       14726        15522        16358

पश्चिम बंगाल                 10906        11550       12234

बिहार                           9958          10644        11378

तमिलनाडु                      9486          9870          10269

मध्‍य प्रदेश                     8334          8858          9414

कर्नाटक                        8029          8527          9055

गुजरात                         8001          8504          9039

राजस्‍थान                      7536          7996          8483

केरल                           5682          6189          6748

आंध्र प्रदेश                      5901          6251         6620

तेलंगाना                        4633         4918          5220

ओडिशा                         4205          4448          4705

झारखंड                         3716          3962          4225

पंजाब                           3321          3503          3694

दिल्‍ली                          3181          3351          3530

हरियाणा                       3103          3308           3526

छत्‍तीसगढ़                     2944          3145           3359

असम                           2406           2437          2467

जम्‍मू-कश्‍मीर                   1421          1516           1618

उत्‍तरांचल                        1217          1298          1384

हिमाचल प्रदेश                    613              647           681 

चंडीगढ़                            196             207            219

सिक्किम                           30                30               31

अरुणाचल प्रदेश                    82                84               85

नगालैंड                             67                67               68

मणिपुर                             273              281             289

मिजोरम                            97                99             101

त्रिपुरा                               129              130             132

मेघालय                            104               106            108

दमन और दीव                      42                47               52

दादर और नगर हवेली              54               61               68

गोवा                                  233             247             262

लक्षद्वीप                              14                15               17

पुदुचेरी                                227             242             257

अंडमान और निकोबार                44               45             47

 

 

गर्भाशय कैंसर

 

राज्‍यवार आंकड़े               2016          2017          2018

जम्‍मू-कश्‍मीर                  1060          1079           1098

हिमाचल प्रदेश                  603              606          610 

पंजाब                           2157          2173           2189

चंडीगढ़                          66               67             68

उत्‍तरांचल                       866             877           890

हरियाणा                        2018          2043           2070

दिल्‍ली                           1073          1088           1103

राजस्‍थान                       5791          5861            5933

उत्‍तर प्रदेश                    17156        17420           17687

बिहार                           9454          9638              9824

सिक्किम                        24                24               24

अरुणाचल प्रदेश                 70                70               72

नगालैंड                          88                89               90

मणिपुर                          138              142             147

मिजोरम                         119              122             125

त्रिपुरा                            159              160             163

मेघालय                         119               122            124

असम                           1438             1456          1474

पश्चिम बंगाल                  7450             7509          7568

झारखंड                         2907             2958          3009

ओडिशा                          3662            3693          3723

छत्‍तीसगढ़                     2303              2343          2383

मध्‍य प्रदेश                     6222              6322        6423

गुजरात                         4801             4868        4928

दमन और दीव                  17               18               19

दादर और नगर हवेली          29               30               32

महाराष्‍ट्र                         8741           8811           8882

तेलंगाना                         2870           2893           2916

आंध्र प्रदेश                       4124          4149            4173

कर्नाटक                          5020          5074           5130

गोवा                              108             109             110

लक्षद्वीप                         05               06               06

केरल                             2849          2908            2975

तमिलनाडु                        5452          5443            5432

पुदुचेरी                            103             106             108

अंडमान और निकोबार           28                28              28

 स्रोत: राष्‍ट्रीय कैंसर पंजीकरण कार्यक्रम के तहत किया गया अध्‍ययन