Sign up for our weekly newsletter

शाम तक गुजरात के तट पर पहुंचेगा चक्रवात, मुंबई और गुजरात में अलर्ट जारी

आज यानी 17 मई की सुबह से दक्षिण गुजरात तट पर ऊंची-ऊंची समुद्री लहरों का रेला उठना शुरू हो गया है, जिनके मध्यरात्रि तक भयंकर ऊंची लहरों में तब्दील होने का अनुमान है।

By Dayanidhi

On: Monday 17 May 2021
 
मौसम अपडेट: गोवा, केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु में भारी तबाही मचाते हुए महाराष्ट्र की ओर बढ़ा तौकते तूफान, मुंबई और गुजरात में अलर्ट जारी
Photo : IMD Photo : IMD

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर अति गंभीर चक्रवाती तूफान "तौकते" जिसे "ताउते" भी कहा जाता है, यह पिछले 6 घंटों के दौरान लगभग 20 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर, उत्तर पूर्व की ओर बढ़ रहा है और यह एक भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल गया है।

तूफान आज, 17 मई, 2021 को पूर्वी मध्य अरब सागर में केंद्रित है, यह मुंबई से लगभग 160 किमी पश्चिम-दक्षिण पश्चिम, वेरावल (गुजरात) से 290 किमी दक्षिण, दक्षिण पूर्व, दीव से 250 किमी दक्षिण, दक्षिण पूर्व और कराची (पाकिस्तान) से 840 किमी दक्षिण, दक्षिण पूर्व में है।

चक्रवाती तूफान "तौकते" या "ताउते" के उत्तर, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने, 17 मई की शाम को गुजरात तट पर पहुंचने और 17 मई की रात 20:00-23.00 बजे  के दौरान पोरबंदर और भावनगर जिले के महुवा के बीच गुजरात तट को पार करने का अनुमान है। यहां हवा की गति के 155-165 किमी प्रति घंटे से लेकर 185 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने के आसार हैं। 

इसके प्रभाव के चलते 17 मई, आज कोंकण और गोवा और आसपास के घाट क्षेत्रों के अलग-अलग स्थानों में भयंकर वर्षा होने की आशंका है।

18 मई को उत्तरी कोंकण में कुछ जगहों पर भारी वर्षा का अनुमान है। 17 और 18 मई को सौराष्ट्र, दीव और गुजरात क्षेत्र के दक्षिणी जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान है।

17 और 18 मई को कच्छ के अलग-अलग स्थानों पर भयंकर बारिश होने, 18 मई को दक्षिण राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है। 19 मई को राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर मूसलाधार बारिश की आशंका है। 

मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि वे 18 मई तक पूर्व-मध्य अरब सागर और महाराष्ट्र-गोवा तटों के साथ-साथ और गुजरात तट के साथ-साथ पूर्वोत्तर अरब सागर में न जाएं।

जूनागढ़ में खगोलीय ज्वार की लगभग 3 मीटर ऊंची लहरें आने, दीव, गिर सोमनाथ, अमरेली, भरूच, भावनगर, अहमदाबाद, आनंद, सूरत में 1 से 2.5 मीटर और देवभूमि द्वारका, जामनगर, पोरबंदर, कच्छ और शेष पर 0.5-1 मीटर ऊंची लहरें आने का अनुमान है। चक्रवाती तूफान "तौकते" या "ताउते" के लैंडफॉल के समय गुजरात के तटीय जिलों के जलमग्न होने का अनुमान है। 

 

Source : IMD

तूफानी हवाएं चलने के साथ भयंकर समुद्री लहरें उठने की चेतावनी

17 मई, आज भरूच, आणंद, दक्षिण अहमदाबाद, बोटाद में 120-140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी बाद में जिसकी गति 165 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने का अनुमान है। 18 मई सुबह से गुजरात के देवभूमि द्वारका, जामनगर, राजकोट, मोरबी, खेड़ा जिलों में 90-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा के 120 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने का अनुमान है।

दादरा और नगर हवेली, दमन, वलसाड, नवसारी, सूरत, सुरेंद्रनगर जिलों में 17 मई की मध्यरात्रि से 18 मई की सुबह तक 70-90 किमी प्रति घंटे की दर से चलने वाली हवा के 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक पहुंचने की आशंका है। 

पूर्व-मध्य, उत्तर-पूर्व अरब सागर और गुजरात तट - पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर में 155-165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के 185 किमी प्रति घंटे की गति तक पहुंचने का अनुमान है। उत्तरी महाराष्ट्र तट पर हवा की गति के 65-75 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 85 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने के आसार बन रहे हैं।

पूर्वोत्तर अरब सागर में समुद्र की स्थिति बहुत अधिक असामान्य रहेगी, 17 मई की सुबह उत्तरी महाराष्ट्र के तटों के साथ-साथ बहुत ऊंची-ऊंची समुद्री लहरें उठने और 17 मई की सुबह से दक्षिण गुजरात तट पर भी ऊंची-ऊंची लहरें उठेंगी जिनके 17 मई की मध्यरात्रि तक भयंकर ऊंची लहरों में तब्दील होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि इन इलाकों में मछली पकड़ने तथा किसी तरह के व्यापार से संबंधित काम के लिए न जाएं।