Sign up for our weekly newsletter

भरूच हादसा: कीटनाशक कंपनी पर 1 करोड़ का जुर्माना, मरने वालों की संख्या 10 हुई

On: Thursday 04 June 2020
 
भरूच जिले के दहेज स्पेशल इकोनॉमिक जोन में एक कंपनी में विस्फोट के बाद का दृश्य। फोटो: सलीम पटेल
भरूच जिले के दहेज स्पेशल इकोनॉमिक जोन में एक कंपनी में विस्फोट के बाद का दृश्य। फोटो: सलीम पटेल भरूच जिले के दहेज स्पेशल इकोनॉमिक जोन में एक कंपनी में विस्फोट के बाद का दृश्य। फोटो: सलीम पटेल

कलीम सिद्दीकी

गुजराज के भरुच जिले में स्थित दहेज स्पेशल इकोनॉमिक जोन में कीटनाशक बनाने वाली कंपनी यशिस्वी रसायन प्राइवेट लिमिटेड को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। गुजरात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने यह कार्रवाई की है। वहीं इस कंपनी में हुए हादसे में मरने वालों की संख्या 10 हो गई है। 

गुजरात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी फाल्गुन मोदी ने बताया "यशिस्वी रसायन को तत्काल प्रभाव से बंद करने तथा 1 करोड़ रुपए का न्युनतम दंड किया गया है। यह दंड पर्यावरण को हानि पहुंचाने के लिए किया गया है। प्रदूषण बोर्ड के अलावा सेफटी विभाग भी जांच कर रहा है। इस घटना से संबंधित एक रिपोर्ट प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड मुख्यालय गांधी नगर भेजी है। जांच में जो आयेगा उस आधार पर आगे की काईवाई होगी। " 

तीन  जून को दहेज की कीटनाशक कंपनी में लगी आग को कंट्रोल करने में पांच घंटे लग गए थे। इंडस्ट्रियल सेफटी एंड हेल्थ डिपार्टमेंट के निदेशक एन. पी. वाघेला ने बताया " घटना का वास्तविक कारण जानने के लिए जाँच की जा रही है। शुरुआती जाँच में टैंक में अधिक दबाव से धमाका हुआ है। ऐसा लगत है। "
 
गुजरात प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के सदस्य सचिव ए वी शाह बताते हैं कि घटना के लगभग छह घंटे बाद ही आग पर काबू पा लिया गया था। हम लोग जिला प्रशासन के संपर्क में हैं। विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। अब वहां आसपास रहने वालों को कोई खतरा नहीं है फिर भी एहतियात के तौर पर लोगों को हटाया गया है।"
 
मृतक तथा घायलों के लिए सरकार ने अभी तक कोई घोषणा नहीं की है। सामाजिक कार्यकर्ता सलीम पटेल बताते हैं कि "अभी न तो सरकार और न ही कंपनी मालिक की तरफ से किसी मुआवजे की घोषणा हुई है। कंपनी और पीड़ित परिवार के बीच मुआवज़े पर बातचीत हुई है लेकिन कंपनी ने अभी तक पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहाय देने या न देने पर आश्वासन नहीं दिया है।"