Sign up for our weekly newsletter

रायगढ़ में जहरीली का गैस का रिसाव, 7 मजदूर बीमार

क्लोरीन टंकी की सफाई के लिए उतरे तीन मजदूर मीथेन गैस की चपेट में आकर बीमार पड़ गए, उन्हें बचाने गए अन्य मजदूर भी चपेट में आ गए

By Avdhesh Mallick

On: Thursday 07 May 2020
 
फोटो: अवधेश मलिक
फोटो: अवधेश मलिक फोटो: अवधेश मलिक

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में गैस का रिसाव होने से 7 मजदूर बीमार हो गए। इनमें तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। गंभीर मजदूरों का नाम डोलामनी सिदार, रूपधर मालाकार और सुरेंद्र गुप्ता बताया गया है। तीनों को इलाज के लिए रायपुर रेफर कर दिया गया है। हादसा 6 मई की दोपहर पुसौर ब्लॉक के तेतला गांव में स्थित कागज फैक्ट्री शक्ति पेपर मिल में हुआ।

सूत्रों के मुताबिक फैक्ट्री लॉकडाउन की वजह पिछले एक महीने से अधिक समय से बंद पड़ी थी। आरोप यह है कि कुछ मजदूर इस बंद फैक्ट्री की सफाई के लिए पहुंचे थे। वे उचित सावधानी नहीं बरतने के कारण टैंक की सफाई करते वक्त अचानक हुए गैस रिसाव के चपेट में आ गए।

प्लांट के संचालक दीपक गुप्ता ने बताया कि प्लांट विगत दो तीन माह से बंद था। उसे दोबारा से चालू करने की तैयारी से हम सब वहां पहुंचे थे। इस बीच क्लोरीन टंकी की सफाई के लिए उतरे तीन मजदूर टंकी में बनी मीथेन गैस की चपेट में आकर बीमार पड़ गए थे और उन्हें बचाने गए अन्य मजदूर भी चपेट में आ गए। फैक्ट्री प्रबंधन ने कहा तीनों घायलों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें राजधानी रायपुर भेजा जा रहा है। वहीं गैस रिसाव रोकने के लिए जिला प्रशासन ने विशेषज्ञों की टीम को लगाया है।

स्थानीय कोयला सत्याग्रह एवं जन चेतना नामक संगठन से जुड़े हुए एक्टिविस्ट राजेश त्रिपाठी ने आरोप लगाया है कि फैक्ट्री प्रबंधन को जिला प्रशासन का सह मिला हुआ है जिसके कारण यह घटना घटी है। पूर्व में भी इस प्रकार की औद्योगिक घटना रायगढ़ में घटी है। 

कब-कब हुए हादसे 

S.N.

विवरण

घायल

मौत

1

भिलाई स्टील प्लांट गैस लीक (2014)

40

6

2

भिलाई स्टील प्लांट गैस लीक (2018)

14

9

3

बगदेवा कोल माईन्स (2018)

  3  

 

4

शक्ति पेपर मिल (2020)

 7