Sign up for our weekly newsletter

बिहार में उद्घाटन से पहले टूटा 389 करोड़ का बांध

राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बांध टूटने की घटना को भ्रष्टाचार से जोड़ते हुए नीतीश कुमार पर निशाना साधा है

On: Tuesday 03 December 2019
 
पानी शहर के कई निचले इलाकों में घुस गया है Credit: Agnimirh Basu / CSE
पानी शहर के कई निचले इलाकों में घुस गया है Credit: Agnimirh Basu / CSE पानी शहर के कई निचले इलाकों में घुस गया है Credit: Agnimirh Basu / CSE

भागलपुर के कहलगांव में बने बांध का एक हिस्सा मंगलवार को टूट गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस बांध का उद्घाटन करना था लेकिन इसके चंद घंटे पहले ही बांध की दीवार उस वक्त ढह गई जब इसमें गंगा नदी का पानी आ गया।

बांध का पानी एनटीपीसी टाउन और सिविल लाइन में घुस गया है। इसके अलावा कहलगांव में सिविल जज और निचले इलाकों में बने घरों में भी पानी घुस गया। इस बांध का निर्माण 389.31 करोड़ की लागत से किया गया है। यह गतेश्वर पंथ कनाल प्रोजेक्ट का हिस्सा है। इस प्रोजेक्ट का मकसद क्षेत्र में सिंचाई व्यवस्था में सुधार करना है। इस प्रोजेक्ट की क्षमता 27,603 हेक्टेयर जमीन को सींचने की है। इसमें से 22,816 हेक्टेयर जमीन बिहार में है जबकि 4,887 हेक्टेयर जमीन झारखंड में है।

जल संसाधन मंत्री लल्लन सिंह के अनुसार, पूरी क्षमता में पानी छोड़ने के कारण बांध का हिस्सा टूटा है। बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बांध टूटने की घटना को भ्रष्टाचार से जोड़ते हुए नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। बता दें कि बिहार सरकार को हाल में सीएजी की रिपोर्ट के कारण भी आलोचना झेलनी पड़ी थी। सीएजी रिपोर्ट में कहा गया था कि राज्य में तटबंधों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा उपाय नहीं किए गए हैं।