जुड़वा लोगों पर अध्ययन, धूम्रपान से हो सकती है दिमाग में ब्लीडिंग

फिनलैंड के लगभग 32 हजार लोगों पर किए गए सर्वेक्षण के बाद वैज्ञानिकों ने ध्रूमपान को दिमाग के लिए नुकसानदायक बताया है

By Dayanidhi

On: Monday 21 September 2020
 
Photo: wikimedia commons
Photo: wikimedia commons Photo: wikimedia commons

जुड़वाओं पर किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि धूम्रपान करने वाले लोगों के दिमाग में ब्लीडिंग (रक्तस्राव) हो सकता है, जो आघात (स्ट्रोक) का कारण बन सकता है। इस ब्लीडिंग को सबराचनोइड हेमोरेज (एसएएच) भी कहते हैं। यह ब्लीडिंग मस्तिष्क को कवर करने वाली एक झिल्ली के नीचे होता है।

फिनलैंड के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए इस नए अध्ययन को अमरीकी हार्ट इंस्टिट्यूट के एक प्रभाग, अमेरिकन स्ट्रोक एसोसिएशन की एक पत्रिका स्ट्रोक में प्रकाशित किया गया है।

इससे पहले ऐसा ही एक अध्ययन डेनमार्क, फिनलैंड और स्वीडन के लगभग 80,000 जुड़वाओं पर किया गया। अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि मस्तिष्क में रक्तस्राव के बाहरी कारण अधिक होते है, जबकि आनुवंशिक प्रभाव बहुत कम पाए गए हैं। जुड़वा लोग या तो सभी या आधे अपने जीन एक दूसरे से साझा करते हैं।

अब यह अध्ययन फिनलैंड के जुड़वाओं के समूह (फिनिश ट्विन कोहोर्ट) पर किया गया। इसमें 32,564 व्यक्तियों (16,282 समान-लिंग) पर किया गया, जो 1958 से पहले पैदा हुए थे और 1974 तक जीवित थे और 42 से अधिक वर्षों तक इनके साथ अध्ययन चलता रहा। शोधकर्ताओं ने जुड़वा बच्चों के बीच 120 घातक रक्तस्राव स्ट्रोक की घटनाओं की पहचान की। धूम्रपान करने वालों में यह अघात (स्ट्रोक) मस्तिष्क में रक्तास्राव के लिए सबसे मजबूत संबद्ध पाया गया।

शोधकर्ता इलारी राउटलिन ने कहा हमारे अध्ययन से मस्तिष्क में धूम्रपान और रक्तस्राव के बीच संबद्ध के बारे में और भी सबूत मिलते हैं। इलारी राउटलिन फिनलैंड में हेलसिंकी विश्वविद्यालय में मेडिकल और पीएचडी के छात्र हैं।

सर्वेक्षणों से एकत्र किए गए आंकड़ों में धूम्रपान, उच्च रक्तचाप (एंटीहाइपरटेंसिव दवाओं का निदान या उपयोग), शारीरिक गतिविधि, बॉडी मास इंडेक्स, शिक्षा; और शराब का उपयोग करने वाले लोग शामिल थे। प्रतिभागियों को दो समूहों में विभाजित किया गया था: धूम्रपान करने वाले (पहले या वर्तमान) में या धूम्रपान करने वाले।

वर्तमान में धूम्रपान करने वालों को प्रति दिन उपयोग की गई सिगरेटों की संख्या के अनुसार वर्गीकृत किया गया था: कम 10 से या उससे कम सिगरेटों का उपयोग करने वाले; मध्यम 10-19 सिगरेटों का उपयोगबहुत अधिक 20 या उससे अधिक सिगरेटों का उपयोग करने वाले लोग।

120 घातक रक्तस्राव की घटनाओं का विश्लेषण में निम्नलिखित पाया

दो जोड़े में दोनों जुड़वा की मौतें हुईं। शेष 116 में, मस्तिष्क में रक्तस्राव के कारण एक जुड़वां की मृत्यु हो गई, जबकि दूसरे की मृत्यु दूसरे कारणों से हुई, इनमें से कुछ जो अध्ययन के दौरान कहीं और चले गए या अंत में अभी भी जीवित थे।

बहुत अधिक और मध्यम धूम्रपान करने वालों के मस्तिष्क में घातक रक्तस्राव का खतरा 3 गुना था, जबकि हल्के धूम्रपान करने वालों को 2.8 गुना खतरा कम था। मस्तिष्क में घातक रक्तस्राव की औसत आयु 61.4 वर्ष थी।

पूर्व अध्ययनों के विपरीत उच्च रक्तचाप, कम शारीरिक गतिविधि दर और महिला होने जैसे जोखिम कारकों का इस जांच में महत्वपूर्ण प्रभाव नहीं पाया गया। धूम्रपान पुरुषों और महिलाओं दोनों में लगातार मस्तिष्क में घातक रक्तस्राव के साथ जुड़ा हुआ था और जुड़वां जोड़ों के भीतर रक्तस्रावी स्ट्रोक से मौतें हुईं, जहां एक जुड़वा में से केवल एक सबराचनोइड हेमोरेज (एसएएच) के कारण उसकी मृत्यु हो गई थी।

वर्तमान अध्ययन में सामान्य बीमारियों का सबराचनोइड हेमोरेज (एसएएच) पर डेटा नहीं था और शोधकर्ता इन मस्तिष्क में हुए रक्तस्राव पर पूर्व के धूम्रपान प्रभावों के अनुमान लगाने में सक्षम नहीं थे। पूर्व में धूम्रपान करने वालों और कभी धूम्रपान करने वालों को धूम्रपान करने वालों की श्रेणी में जोड़ा गया था।

रोज मैरी रॉबर्टसन ने कहा जुड़वाओं में लंबे समय तक किए गए इस अध्ययन से मस्तिष्क में रक्तास्राव और धूम्रपान के बीच संबंध की पुष्टि करने में मदद मिलती है। रोज मैरी रॉबर्टसन अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के चिकित्सा अधिकारी और नियामक विज्ञान के लिए एएचए तंबाकू केंद्र की सह-निदेशक हैं। यदि अपने आपको बचाना है तो आज ही से तंबाकू, धूम्रपान को कहिए।