Sign up for our weekly newsletter

भारतीय खगोलविदों ने 70 नए परिवर्तनशील सितारों की खोज की

पृथ्वी से लगभग 7,900 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित एनजीसी 559 लगभग 22.4 करोड़ वर्ष पुराना एक खुला समूह है

By Dayanidhi

On: Thursday 24 September 2020
 

भारत के खगोलविदों ने एनजीसी 559 नामक तारामंडल का लंबे समय तक अध्ययन करने के बाद 70 नए परिवर्तनशील सितारों का पता लगाया है। तारों का समूह नक्षत्रीय विकास का अध्ययन करने के लिए उत्कृष्ट अवसर प्रदान करते हैं, क्योंकि वे समान गुणों वाले सितारों का संग्रह होता हैं। उनकी आयु, दूरी और प्रारंभिक संरचना एक जैसी होती है।

खगोलविद अक्सर युवा और मध्यवर्ती उम्र के समूहों में परिवर्तनशील सितारों की खोज करते हैं, जो पूर्व मुख्य अनुक्रम (पीएमएस) सितारों की समझ को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण हो सकता है।

पृथ्वी से लगभग 7,900 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित एनजीसी 559 लगभग 22.4 करोड़ (224 मिलियन) वर्ष पुराना एक खुला समूह है। एनजीसी 559 के पिछले अवलोकन में 542 सितारों की पहचान की गई थी और पाया गया है कि क्लस्टर में 0.82 मैग के स्तर पर यह लाल है और इसकी त्रिज्या लगभग 4.86 आर्कमिन है। आर्कमिन एक आर्कम्युनिट एक कोणीय माप एक डिग्री या 60 आर्सेकंड के 1/60 के बराबर होता है।

अब भारत में आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ ऑब्जर्वेशन साइंसेज (एआरआईईएस) के योगेश सी जोशी के नेतृत्व में खगोलविदों की एक टीम ने एनजीसी 559 के लंबे समय तक प्रकाश को मापने (फोटोमेट्रिक) के परिणामों को प्रकाशित किया है। उन्होंने भारत में स्थित अलग-अलग 1 से 2 मीटर वर्ग की दूरबीनों का उपयोग किया। तीन वर्षों से अधिक समय तक चले इस अवलोकन के परिणामस्वरूप एनजीसी 559 में दर्जनों नए परिवर्तनशील तारों की खोज हुई। यह खोज अरक्षिव नामक पत्रिका में प्रकाशित हुई है।

यह कार्य मध्यवर्ती आयु के खुले समूहों के एनजीसी 559 का पहला लंबे समय तक प्रकाश को मापने (फोटोमेट्रिक) संबंधी परिवर्तनशीलता सर्वेक्षण प्रस्तुत करता है। खगोलशास्त्रियों ने कहा कि हमने तीन वर्षों से अधिक की अवधि में 40 रातों पर खुले बैंड फोटोमीट्रिक आंकड़ों को एकत्र करने के लिए अलग-अलग स्थान से एक व्यापक अभियान चलाया।

कुल मिलाकर अध्ययन में 70 नए परिवर्तनशील सितारों का पता चला, जिनमें से 67 (पीरियोडिक) आवर्ती परिवर्तनशील हैं जिनका काल-चक्र तीन घंटे से 41 दिनों तक होता है। नए पाए गए आवर्ती चर के अधिकांश हिस्से में एक दिन से कम की अवधि होती है और उनमें से अधिकांश में परिवर्तनशीलता का अपेक्षाकृत छोटा आयाम 0.02 मेगा स्तर तक होता है।

खगोलशास्त्रियों द्वारा बताए गए सभी आवर्ती चर के बीच, 30 खुले तारों (अनुमानित द्रव्यमान 1.72 और 3.6 सौर द्रव्यमान के बीच है ) के रूप में पुष्टि की गई थी, जबकि 37 तारे, क्षेत्र की आबादी से संबंधित हैं। ग्यारह सितारों को जिनमें गति नहीं है परिवर्तनशील के रूप में वर्गीकृत किया गया है। पांच को घूर्णी परिवर्तनशील के रूप में, तीन को धीरे-धीरे बी-प्रकार के तारों के रूप में, दो को एफके कोमे बर्नीस-प्रकार के परिवर्तनशील के रूप में, एक को अल्गोल प्रकार के अंधेरा (इक्लिप्स) बाइनरी के रूप में, और एक को संभावित ब्लू स्ट्रैगलर स्टार के रूप में वर्गीकृत किया गया है। सात तारों की प्रकृति अभी भी निर्धारित की जानी बाकी है।

खगोलविदों ने उल्लेख किया कि अध्ययन में बताए गए 70 में से शेष तीन सितारे अनियमित परिवर्तनशील, दो खुले समूह से संबंध रखते हैं और एक दर्ज किया हुआ (फाइल्ड) तारा है। हालांकि इनकी प्रकृति में अधिक प्रकाश डालने के लिए अतिरिक्त फोटोमेट्रिक और स्पेक्ट्रोस्कोपिक अवलोकनों की आवश्यकता है।