पश्चिमी विक्षोभ के कारण हिमाचल, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और विदर्भ में भारी ओलावृष्टि

आज से उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आने का अनुमान है

By Dayanidhi

On: Monday 27 November 2023
 

मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ मध्य और ऊपरी स्तरों पछुआ हवाओं में एक ट्रफ के रूप में जारी है। इसके कारण बना चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान और इससे सटे पश्चिमी राजस्थान के निचले स्तरों पर बना हुआ है।  

मौसम विभाग ने उपरोक्त मौसम संबंधी गतिविधि को देखते हुए आज, 27 नवंबर को कोंकण और गोवा, मराठवाड़ा और मध्य महाराष्ट्र तथा दक्षिण मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश तथा कुछ हिस्सों में वज्रपात के साथ भारी बारिश होने की आशंका जताई है। इन राज्यों में 64.5 मिमी से 115.5 मिमी तक बारिश होने का अनुमान है।

वहीं, 27 और 28 नवंबर, 2023 को विदर्भ के कुछ हिस्सों में बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। 27 नवंबर को दक्षिण-पश्चिम मध्य प्रदेश और उत्तरी मराठवाड़ा और उत्तराखंड, पूर्वी मध्य प्रदेश और विदर्भ में ओलावृष्टि होने की आशंका जताई गई है

27 और 28 नवंबर के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश होने की भी संभावना है। वहीं 27 नवंबर को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में तूफानी हवाओं के साथ बारिश तथा बिजली गिरने के आसार हैं।

कहां चलेंगी तेज हवाएं, कहां होगी ओलावृष्टि, कहां पड़ेगी गरज के साथ बौछारें तथा कहां गिरेगी बिजली?
मौसम विभाग के मुताबिक आज, दक्षिण-पश्चिम मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के साथ ओलावृष्टि के आसार हैं।  

वहीं आज, दक्षिण-पूर्व मध्य प्रदेश और विदर्भ के अलग-अलग हिस्सों में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की दर से चलने वाली तूफानी हवाओं के साथ बिजली गिरने तथा ओलावृष्टि की आशंका हैं।   

आज, उत्तराखंड और मराठवाड़ा के अलग-अलग हिस्सों में वज्रपात तथा ओलावृष्टि होने की भी आशंका जताई गई है। वहीं आज, केरल और माहे के अलग-अलग हिस्सों में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की गति से चलने वाली तूफानी हवाओं के साथ बिजली गिरने की आशंका जताई गई है।  

आज, हिमाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल के अलग-अलग हिस्सों में बिजली गिरने के आसार हैं

आज यानी से 27 नवंबर से उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक गिरने तथा 29 नवंबर से मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में भी पारे के लुढ़कने के आसार हैं।

मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी
आज, दक्षिण और आसपास के उत्तरी अंडमान सागर में 40 से 45 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तूफानी हवाओं के और तेज होकर 55 किमी प्रति घंटे की रफ्तार में तब्दील होने की आशंका व्यक्त की गई है।

मौसम विभाग ने उपरोक्त तूफानी हवाओं को देखते हुए मछुआरों को इन इलाकों में मछली पकड़ने तथा किसी तरह के व्यापार से संबंधित काम के लिए न जाने की चेतावनी जारी की है।

Source : IMD

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें?
कल, 26 नवंबर को 8:30 से 5:30 के दौरान गुजरात के कई इलाकों, राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक,केरल और माहे, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में बारिश हुई या गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां हुई एक सेमी या उससे अधिक बारिश?
कल, 26 नवंबर को 8:30 से 5:30 के दौरान गुजरात के सूरत में 5 सेमी, बनासकांठा, अरनेज, ढोलका, मकतमपुर और डीसा हर जगह 4 सेमी, सुरेंद्रनगर, धंधुका, नर्मदा और अमरेली हर जगह 3 सेमी, दाहोद, अहमदाबाद, बरवाला, बिलोदरा, भावनगर और राजकोट हर जगह 2 सेमी, छोटाउदेपुर, गांधीनगर, डांग, दमन, तारघड़िया, जाफराबाद और महुवा प्रत्येक जगह 1 सेमी, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के चेन्नई में 4 सेमी, सत्यबामा विश्वविद्यालय में 3 सेमी, चिदंबरम में 1 सेमी बारिश हुई।

वहीं कल, केरल और माहे के थेनमाला में 1 सेमी, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कार निकोबार में 2 सेमी, मध्य प्रदेश के खरगोन, रतलाम और बड़वानी प्रत्येक जगह 2 सेमी, इंदौर और धार प्रत्येक जगह 1 सेमी, राजस्थान के जालौर में 2 सेमी, बाडमेर, फलोदी, सिरोही और डूंगरपुर प्रत्येक जगह 1 सेमी, महाराष्ट्र के खेड़ (पुणे) में 2 सेमी, अंबेगांव (पुणे) में 1 सेमी बारिश दर्ज की गई।

कल कहां हुई ओलावृष्टि?
कल, 26 नवंबर को 8:30 से 5:30 के दौरान पश्चिम मध्य प्रदेश (रतलाम, उज्जैन, खरगोन और झाबुआ जिलों में) और मध्य महाराष्ट्र (नासिक जिले) के अलग-अलग हिस्सों में ओलावृष्टि दर्ज की गई।

कहां-कहां रहा न्यूनतम तापमान सामान्य से बहुत कम?
कल, पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से -1.6 डिग्री से -3.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

कहां-कहां रहा अधिकतम तापमान सामान्य से बहुत कम?
कल, पश्चिम मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य -3.0 डिग्री सेल्सियस -5 डिग्री सेल्सियस, काफी नीचे दर्ज किया गया। वहीं कल, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, पूर्वी मध्य प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, पंजाब और तेलंगाना के अलग-अलग इलाकों में अधिकतम  तापमान सामान्य से -3.1 डिग्री सेल्सियस से -5.0 डिग्री सेल्सियस काफी नीचे रहा।

कहां रहा न्यूनतम तापमान सामान्य से कम?
कल, देश के मैदानी इलाकों, उमरिया (पूर्वी मध्य प्रदेश) में न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

कहां रहा अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक?
कल, रत्नागिरी (कोंकण और गोवा) में अधिकतम तापमान 35.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

Subscribe to our daily hindi newsletter