पश्चिमी विक्षोभ का असर, उत्तर और पूर्वोत्तर भारत के इन हिस्सों में लगातार बारिश व हिमपात

अगले तीन दिनों के दौरान पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है, उसके बाद अधिकतम तापमान के दो से चार डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने का अनुमान है

By Dayanidhi

On: Tuesday 05 March 2024
 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, आज, पांच मार्च की रात से एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने का पूर्वानुमान है। इसकी वजह से पश्चिमी हिमालयी इलाकों के मौसम में बदलाव होने के आसार हैं।

पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर और पूर्वोत्तर भारत में फरवरी और मार्च में भी बर्फबारी जारी है। वहीं, पांच से सात मार्च के दौरान जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद तथा हिमाचल प्रदेश के अधिकतर हिस्सों, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश तथा बर्फबारी होने के आसार हैं। उत्तर के इन राज्यों में 15.6 मिमी से 64.4 मिमी तक बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग के मुताबिक, एक चक्रवाती प्रसार निचले स्तरों पर पूर्वोत्तर असम पर बना हुआ है। वहीं पश्चिमी विक्षोभ पूर्व की ओर तेजी से बढ़ रहा है। मौसम संबंधी इस गतिविधि के चलते अगले दो से तीन दिनों के दौरान अरुणाचल प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में हल्की से मध्यम वर्षा तथा बर्फबारी होने का पूर्वानुमान लगाया गया है। अरुणाचल में भी 15.6 मिमी से 64.4 मिमी तक बारिश के होने का अनुमान है।

वहीं आज, असम और मेघालय तथा नागालैंड के अलग-अलग हिस्सों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने तथा वज्रपात की आशंका जताई गई है, इन राज्यों में 15.6 मिमी से 64.4 मिमी तक बारिश हो सकती है।

तापमान में उतार चढ़ाव
मौसम विभाग के मुताबिक, अगले चार से पांच दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम और निकटवर्ती मध्य भारत के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे दो से चार डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की संभावना है।

वहीं, अगले तीन दिनों के दौरान पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है, उसके बाद अधिकतम तापमान के दो से चार डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने का अनुमान है।

मौसम विभाग ने कहा है कि अगले चार से पांच दिनों के दौरान देश के बाकी हिस्सों में अधिकतम तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है।

दक्षिण भारत में तापमान में उतार चढ़ाव की बात करें तो, अगले दो दिनों के दौरान रायलसीमा और केरल में गर्म और नमी से भरे मौसम के बने रहने की आशंका जताई गई है।

कल, देश के मैदानी इलाकों में पूर्वी राजस्थान के पिलानी में न्यूनतम तापमान 5.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं कल, देश भर में रायलसीमा के अनंतपुर में अधिकतम तापमान 39.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें?
कल, चार मार्च को 8:30 से 5:30 के दौरान झारखंड के कुछ हिस्सों, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, ओडिशा, पूर्वी मध्य प्रदेश, केरल और माहे के अलग-अलग इलाकों में बारिश हुई या गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां हुई एक सेमी या उससे अधिक बारिश?
कल, चार मार्च को 8:30 से 5:30 के दौरान पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों के बांकुरा एडब्ल्यूएस में 2 सेमी, आसनसोल में 1 सेमी, झारखंड के जमशेदपुर में 1 सेमी बारिश दर्ज की गई।

Subscribe to our daily hindi newsletter