मौसम अपडेट : पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत सहित इन हिस्सों में भारी बारिश के आसार

06 अक्टूबर के आसपास उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी की शुरुआत होगी।

By Dayanidhi

On: Monday 04 October 2021
 
मौसम अपडेट : पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत सहित इन हिस्सों में भारी बारिश के आसार
फोटो : विकिमीडिया कॉमन्स फोटो : विकिमीडिया कॉमन्स

मौसम विभाग ने कहा है कि 06 अक्टूबर के आसपास उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी की शुरुआत होगी।

पूर्वी बिहार और उससे सटे उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। अगले 24 घंटों के दौरान इसके पूर्व, उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने का अनुमान है। उत्तर-दक्षिण ट्रफ रेखा इस निम्न दबाव क्षेत्र से उत्तर आंतरिक ओडिशा तक जाती है।

मौसम विभाग ने बताया कि उपरोक्त मौसम संबंधी गतिविधियों के चलते आज यानी 04 अक्टूबर को उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, मेघालय, केरल और माहे, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के अलग-अलग हिस्सों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है। वहीं बिहार अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम असम, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, दक्षिण कोंकण और गोवा और तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों पर भी बादलों के जमकर बरसने के आसार हैं।

वहीं एक चक्रवाती प्रसार दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे सटे तमिलनाडु के ऊपर समुद्र तल से 3.1 किमी तक फैला हुआ है। पूर्वी हवाओं में एक ट्रफ इस चक्रवाती प्रसार से कर्नाटक तट पर पूर्व मध्य अरब सागर तक जाती है। चक्रवाती प्रसार केरल तट से दक्षिण पूर्व अरब सागर को पार करते हुए निचले ट्रोपोस्फेरिक स्तर तक फैली है।

अगले 2 से 3 दिनों तक इसके यहीं बने रहने का अनुमान है। मौसम संबंधी इन प्रणालियों के प्रभाव के चलते 04 से 06 अक्टूबर के दौरान तमिलनाडु, केरल और तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। इसी दौरान दक्षिण कोंकण और गोवा में और दक्षिण मध्य महाराष्ट्र में अलग-अलग जगहों पर भारी वर्षा होने का अनुमान है।

एक चक्रवाती प्रसार केरल तट से दूर दक्षिण पूर्व अरब सागर के ऊपर बना हुआ है जोकि समुद्र तल से औसतन 3.1 किमी तक फैला हुआ है। इसके प्रभाव में, अगले 24 घंटों के दौरान पूर्व मध्य और उससे सटे पूर्वोत्तर अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने के आसार हैं।

आज कहां पड़ेगी गरज के साथ बौछारें, कहां गिरेगी बिजली, कहां चलेगी तेज हवाएं और कहां होगी ओलावृष्टि
आज उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कोंकण और गोवा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, लक्षद्वीप और केरल और माहे में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने, तेज हवाएं चलने तथा गरज के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं।

Source : IMD

समुद्र से दूर रहने की चेतावनी
केरल से लेकर कर्नाटक तथा गोवा के तटों के साथ-साथ दक्षिण-पूर्व और पूर्व-मध्य अरब सागर में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की गति से तेज हवाएं चलने के आसार हैं। मछुआरों को चेतावनी दी है कि इन इलाकों में मछली पकड़ने तथा किसी तरह के व्यापार से संबंधित काम के लिए न जाएं।

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें
कल, 03 अक्टूबर को 8:30 से 5:30 के दौरान अरुणाचल प्रदेश, उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में अधिकांश स्थानों पर, असम और मेघालय, बिहार में कई जगहों पर, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, मध्य महाराष्ट्र, सौराष्ट्र और कच्छ में कुछ स्थानों पर और झारखंड, ओडिशा, मध्य प्रदेश पूर्वी उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, विदर्भ, गुजरात, केरल और माहे और लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर बारिश हुई या गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां कितनी वर्षा दर्ज की गई
कल, 03 अक्टूबर को 8:30 से 5:30 के दौरान कूच बिहार में 5 सेमी, सिवनी और हरदोई प्रत्येक जगह 4 सेमी, धुबरी, कोल्हापुर और छिंदवाड़ा प्रत्येक जगह 3 सेमी, जलपाईगुड़ी, पेंड्रा रोड, गुलबर्गा, पुणे, सूरत, भागलपुर, पुरुलिया, बगडोगरा और वलप्राई प्रत्येक जगह 2 सेमी, पासीघाट, शिलांग, मालदा, सुपौल, उज्जैन, कोडाईकनाल, ट्रुप्पत्तूर और वेल्लोर प्रत्येक जगह 1 सेमी बारिश दर्ज की गई।

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें
कल 03 अक्टूबर को 8:30 के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में कई स्थानों पर, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, उत्तर प्रदेश, असम में अलग-अलग स्थानों पर, मेघालय, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और कर्नाटक में गरज के साथ बौछारें पड़ी, इन जगहों पर, आज 5:30 बजे के दौरान मौसम की इसी तरह की गतिविधि के आसार हैं।

कल कहां दर्ज किया गया सबसे अधिक तापमान
कल गंगानगर (पश्चिम राजस्थान) में अधिकतम तापमान 38.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

कल कहां दर्ज किया गया सबसे कम तापमान
कल, देश के मैदानी इलाकों में बुलसर (गुजरात) में न्यूनतम तापमान 19.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।