Sign up for our weekly newsletter

मौसम अपडेट: जानें कहां चलेगी लू तो कहां होगी भारी बारिश

देश के अधिकांश हिस्सों में गरज के साथ बारिश होने के कारण अगले 4-5 दिनों के दौरान अधिकतम तापमान में कोई ज्यादा बदलाव होने का अनुमान नहीं है।

By Dayanidhi

On: Monday 12 April 2021
 
Weather update: There is a possibility of heat wave in different parts of Saurashtra and Kutch
Photo : Wikimedia Commons Photo : Wikimedia Commons

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, भारत के दक्षिण प्रायद्वीप में निचले ट्रोपोस्फेरिक स्तरों पर चक्रवाती प्रसार के प्रभाव की वजह से अगले 5 दिनों के दौरान भारत के दक्षिण-पश्चिमी प्रायद्वीपीय में बिजली गिरने, गरज के साथ तेज बारिश होने और 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। 14-16 अप्रैल, 2021 के दौरान तमिलनाडु, केरल के दक्षिणी घाट क्षेत्रों, माहे, दक्षिण कर्नाटक के तटीय और आंतरिक हिस्सों में भारी वर्षा के आसार हैं।

दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश और निकटवर्ती इलाकों के निचले स्तरों पर एक चक्रवाती प्रसार बना हुआ है। इसके प्रभाव से मध्य प्रदेश, विदर्भ, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों और ओडिशा में अगले 4-5 दिनों के दौरान गरज के साथ छींटे पड़ने और 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। झारखंड में अगले 24 घंटों के दौरान गरज के साथ छींटे पड़ने और तेज हवाएं चलने के आसार हैं।

मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन में दिल्ली का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंचने का अनुमान है। इस दौरान अधिकतम के साथ-साथ न्यूनतम तापमान भी बढ़ सकता है, जिससे रात में गर्मी महसूस होगी।

बीते कल 8:30 से 5:30 बजे अरुणाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर, जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद,  केरल और माहे, असम, मेघालय, ओडिशा, मध्य महाराष्ट्र, उत्तर आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, पुदुचेरी, कराईकल और कर्नाटक में अलग-थलग स्थानों पर गरज के साथ वर्षा हुई तथा कुछ जगहों पर बौछारें पड़ी। 

एक नए सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ की वजह से 14-17 अप्रैल के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में आसपास के मैदानी इलाकों के मौसम के प्रभावित होने की बहुत अधिक आशंका है। पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में 14 से 17 अप्रैल के दौरान बिजली गिरने, गरज से बारिश होने और 30- 40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। 15 -17 अप्रैल के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र के निकटवर्ती इलाकों के आस-पास के मैदानी इलाकों में गरज के साथ छिटपुट बारिश होने और 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने का अनुमान है।

14 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में भी अलग-अलग जगहों पर ओलावृष्टि होने का अनुमान है। 15 और 16 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में भी भारी वर्षा की आशंका है। 14 और 15 अप्रैल, 2021 को पश्चिम राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में धूल भरी आंधी चलने का अनुमान है।

देश के अधिकांश हिस्सों में गरज के साथ बारिश होने के कारण, अगले 4-5 दिनों के दौरान देश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में कोई ज्यादा बदलाव का अनुमान नहीं है। हालाकि 12 अप्रैल को सौराष्ट्र और कच्छ के अलग-अलग हिस्सों में लू चलने की आशंका है।Source: IMD

12 अप्रैल यानि आज पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाके, ओडिशा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तेलंगाना, केरल और माहे, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, पूर्वी मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम,  मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कोंकण और गोवा, तमिलनाडु, पुदुचेरी, कराईकल और लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने, गरज के साथ बारीश होने और 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने का अनुमान है।