पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों सहित दक्षिण भारत के इन राज्‍यों में आज बरसेगा मानसून

आज दक्षिण पश्चिम और पश्चिम मध्य अरब सागर में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के और तेज होकर 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार में तब्दील होने की आशंका है

By Dayanidhi

On: Wednesday 07 July 2021
 
पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों सहित दक्षिण भारत के इन राज्‍यों में आज बरसेगा पानी

बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर पर नम पूर्वी हवाओं के 8 जुलाई से पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में धीरे-धीरे स्थिर होने का अनुमान है। इनके 10 जुलाई तक उत्तर पश्चिम भारत में पंजाब और उत्तरी हरियाणा को कवर करते हुए उत्तर पश्चिम भारत में फैलने की संभावना है।

इसके चलते दक्षिण-पश्चिम मानसून के पश्चिम उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ और हिस्सों और दिल्ली में 10 जुलाई के आसपास दस्तक देने की संभावना है।

उपरोक्त परिस्थितियों के प्रभाव के चलते:
8 जुलाई से मध्य भारत में - मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़ में कुछ जगहों पर भारी वर्षा होने का अनुमान है और 8 जुलाई को विदर्भ, 8,9 और 11 जुलाई को छत्तीसगढ़ में भी बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। 9 जुलाई को पूर्वी मध्य प्रदेश और 11 जुलाई को पश्चिम मध्य प्रदेश में मूसलाधार बारिश होने का अनुमान है।

9 जुलाई से उत्तर पश्चिमी भारत में बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है और 8 जुलाई से उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में भी बहुत भारी बारिश होने का अनुमान लगाया गया है। 9 जुलाई से हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश में, 10 जुलाई से पूर्वी राजस्थान में 11 जुलाई को उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान में जमकर बरसेंगे मेघ।

अरब सागर के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून के मजबूत होने के चलते 9 जुलाई से पश्चिमी तट पर बारिश में वृद्धि होने की संभावना है। 9 जुलाई से कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल और माहे में बहुत भारी बारिश होने का अनुमान लगाया गया है।

8 जुलाई से दक्षिण-पश्चिम मानसून के फिर से सक्रिय  होने के चलते, 9 जुलाई से पूर्वोत्तर भारत - अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में वर्षा में कमी आने के आसार दिख रहे हैं।

आज देश में मौसम का मिजाज कुछ इस तरह रहेगा

आज किन जगहों में होगी भारी बारिश
07 जुलाई, आज बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, असम और मेघालय में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है। पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, ओडिशा में अलग-अलग स्थानों पर मूसलाधार बारिश की संभावना है।

आज अंडमान निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, कोंकण और गोवा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, रायलसीमा, कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और केरल और माहे में भी जमकर बरसेंगे मेघ।

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में गर्मी से निजात मिलने के कोई संकेत नहीं हैं, आज भी लू (हीट वेव) चलने की आशंका व्यक्त की गई है। आज दिल्ली का अधिकतम तापमान 42 तथा न्यूनतम 31 डिग्री सेल्सियस और आर्द्रता लगभग 48 फीसदी रहने का अनुमान है।

Source : IMD

आज कहां चलेगी आंधी, कहां पड़ेगी गरज के साथ बौछारें, कहां गिरेगी बिजली
आज यानी 07 जुलाई को हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, ओडिशा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम और मेघालय, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम में अलग-अलग स्थानों पर, तेलंगाना, रायलसीमा, कर्नाटक और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में बिजली गिरने तथा गरज के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं।

हीट वेव के आसार
आज पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में लू (हीट वेव) चलने की आशंका व्यक्त की गई है।

मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी
दक्षिण पश्चिम और पश्चिम मध्य अरब सागर में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के और तेज होकर 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार में तब्दील होने की आशंका है। इसके चलते मौसम विभाग ने मछुआरों को चेतावनी दी है कि इन इलाकों में मछली पकड़ने तथा किसी तरह के व्यापार से संबंधित काम के लिए न जाएं।

कल कहां हुई बारिश और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें
कल 06 जुलाई को, 8:30 से 5:30 बजे के दौरान अरुणाचल प्रदेश, कोंकण और गोवा, उत्तर-आंतरिक कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में कई स्थानों पर बारिश हुई या गरज के साथ बौछारें पड़ी।
कल विदर्भ और लक्षद्वीप के कुछ स्थानों पर, उत्तराखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, पश्चिम मध्य प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, पूर्वी राजस्थान, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्रप्रदेश और यनम, मध्य महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक में अलग-अलग स्थानों पर, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग जगहों पर बादल बरसे या गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां कितनी वर्षा दर्ज की गई
कल 06 जुलाई को 8:30 बजे से 5:30 बजे के दौरान बीदर में 4 सेमी, उरई, अगरतला, जगदलपुर, नागपुर (सोनेगांव), तुनी, गुलबर्गा, मुंबई (एससीजेड) और पोर्ट ब्लेयर प्रत्येक जगह 2 सेमी, देहरादून, सतना, डायमंड हार्बर, आदिलाबाद, निजामाबाद, मुंबई कोलाबा, अलीबाग, सतारा, लॉन्ग आइलैंड और कार निकोबार प्रत्येक जगह 1 सेमी वर्षा दर्ज की गई।

कल कहां पड़ी तेज हवा के साथ बौछारें
बीते कल यानी 06 जुलाई को 8:30 बजे के दौरान उत्तराखंड, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम मध्य प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्य महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, असम और मेघालय, पूर्वी उत्तर प्रदेश और तटीय आंध्र प्रदेश और यनम में तेज हवाओं के साथ बौछारें पड़ी, इन जगहों पर, आज 5:30 बजे के दौरान मौसम की इसी तरह की गतिविधि के आसार बन रहे हैं।

कल कहां महसूस की गई हीट वेव
कल, उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में भीषण लू (हीट वेव) महसूस की गई और पंजाब और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लू (हीट वेव) महसूस की गई।

कहां रिकॉर्ड किया गया सबसे अधिक तापमान
कल झांसी (पश्चिम उत्तर प्रदेश) में अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

कहां रिकॉर्ड किया गया सबसे कम तापमान
कल, देश के मैदानी इलाकों में सिवनी (पूर्वी मध्य प्रदेश) में न्यूनतम तापमान 20.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।