Sign up for our weekly newsletter

मौसम अपडेट: 11 सितंबर से इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग का कहना है कि मध्य महाराष्ट्र के समुद्र तट से लेकर उत्तरी केरल तक समुद्र के स्तर पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है

By DTE Staff

On: Thursday 10 September 2020
 
Monsoon 2020
मौसम विभाग ने 11 से 13 सितंबर के बीच कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई है। फोटो: विकास चौधरी मौसम विभाग ने 11 से 13 सितंबर के बीच कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई है। फोटो: विकास चौधरी

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र/ क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार मध्य महाराष्ट्र के समुद्र तट से लेकर उत्तरी केरल तक समुद्र के स्तर पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। पूर्व-पश्चिम तलहटी क्षेत्र लगभग 13 °अक्षांश के साथ शीर जोन प्रायद्वीपीय भारत में समुद्र तल से 3.1 किमी तैयार हो रहा है। एक चक्रवाती परिसंचरण कर्नाटक तट से पूर्व में पूर्वी अरब सागर में 1.5 किमी और मध्यवर्ती समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर स्थित है। इसके चलते अगले 3-4 दिनों के दौरान प्रायद्वीपीय भारत में तेज आंधी और बिजली गिरने के साथ व्यापक रूप से भारी बारिश होने की संभावना है। 
 
विभाग के मुताबिक 10 सितंबर से लेकर 13 सितंबर के दौरान तटीय कर्नाटक, 12 सितंबर के दौरान दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, 11 सितंबर तक केरल और माहे और तमिलनाडु,  पुडुचेरी और कराईकल में में अलग-अलग स्थानों पर भारी से अत्यधिक भारी वर्षा होने की संभावना है। 
 
इसके अलावा उत्तर पूर्व और उससे सटे पूर्वी भारत में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने के साथ अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है। अगले 3-4 दिनों के दौरान उप-
हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।
 
मौसम विभाग का कहना है कि 13 सितंबर के आसपास आंध्र प्रदेश तट से दूर बंगाल की पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र के बनने की संभावना है जिसके प्रभाव में, 12 सितंबर से ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, विदर्भ और आसपास के क्षेत्रों में बारिश और तेज बारिश होने की संभावना है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, विदर्भ, मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, रायलसीमा और तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर बिजली कड़कने और हल्की गरज के साथ अगले 12 घंटों के दौरान बारिश की मध्यम बौछारें पड़ सकती हैं।

विभाग ने अगले तीन दिन के मौसम का पूर्वानुमान लगाया है। जो इस प्रकार है- 

11 सितंबर:

♦  तटीय कर्नाटक में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी से अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावन है। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में अलग-थलग स्थानों पर बहुत भारी  बारिश होने के साथ-साथ अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है;  असम और मेघालय तथा केरल और माहे में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम और त्रिपुरा, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा, तटीय आंध्र प्रदेश और यानम, तेलंगाना, रायलसीमा, उत्तर आंतरिक कर्नाटक एवं तमिलनाडु, पुदुचेरी तथा कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

  1. बिहार, झारखंड, गांगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कोंकण और गोवा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, रायलसीमा, कर्नाटक, केरल और माहे तथा तमिलनाडु, पुदुचेरी एवं कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बिजली गिरने की संभावना है।
  2. दक्षिण पश्चिम अरब सागर के ऊपर बहुत तेज़ हवा (गति 45-55 किमी प्रति घंटे तक); मन्नार की खाड़ी और कोमोरिन क्षेत्र में भी (गति 40-50 किमी प्रति घंटे तक) चलने की संभावना है। मछुआरों को इन क्षेत्रों में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

12 सितंबर:

♦ तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में अलग- अलग स्थानों पर भारी से अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है; पूर्व मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम और त्रिपुरा, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कोंकण और गोवा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, उत्तर आंतरिक कर्नाटक तथा केरल एवं माहे में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

  1. झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा तथा गुजरात राज्य में अलग-अलग स्थानों पर आंधी चलने के साथ बिजली गिरने की संभावना है।
  2. दक्षिण पश्चिम अरब सागर और पश्चिम बंगाल की खाड़ी में तेज हवा (गति 45-55 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना) चलने की संभावना है। मछुआरों को इन क्षेत्रों में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

 13 सितंबर:

♦ कोंकण और गोवा तथा तटीय कर्नाटक में अलग-अलग स्थानों पर भारी से अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है; विदर्भ, छत्तीसगढ़, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक और केरल तथा माहे में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

  1. झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा तथा गुजरात राज्य में अलग-अलग स्थानों पर आंधी चलने के साथ बिजली गिरने की संभावना है।
  2. दक्षिण पश्चिम अरब सागर और पश्चिम बंगाल की खाड़ी में तेज हवा (गति 45-55 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना) है। मछुआरों को इन क्षेत्रों में नहीं जाने की सलाह दी गई है