कोरोना मुक्त होने से पहले छत्तीसगढ़ में बढ़े मरीज

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में 9 अप्रैल को 7 मरीजों की पहचान हुई, इसके बाद यहां मरीजों की संख्या 18 हो गई है, हालांकि 9 लोग ठीक हो चुके हैं

On: Thursday 09 April 2020
 
छत्तीसगढ़ के रायपुर में वृद्धाश्रम में बुजुर्गों को कोरोनावायरस के प्रति जागरूक किया गया। फोटो: टि्वटर @bhupeshbaghel
छत्तीसगढ़ के रायपुर में वृद्धाश्रम में बुजुर्गों को कोरोनावायरस के प्रति जागरूक किया गया। फोटो: टि्वटर @bhupeshbaghel छत्तीसगढ़ के रायपुर में वृद्धाश्रम में बुजुर्गों को कोरोनावायरस के प्रति जागरूक किया गया। फोटो: टि्वटर @bhupeshbaghel

रायपुर से अवधेश मलिक 
 
भूपेश सरकार की जिस चुस्ती और तगड़ा बंदोबस्त के कारण छत्तीसगढ़ में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या में कमी देखने को मिली थी और लोगों को लग रहा था कि जल्द ही यह प्रदेश कोरोना मुक्त हो जाएगा। वैसा फिलहाल होते नहीं दिख रहा है।
 
टेस्ट में तेजी लाने के साथ ही कोरबा पाजिटिव की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। कोरबा जिले के कटघोरा ब्लॉक में 24 घंटे के भीतर कोरोना पॉजिटिव की संख्या जो बस एक थी उसमें में तीव्रता से वृद्धि देखी गई है। कटघोरा में 9 अप्रैल को 7 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसमें 5 पुरुष और 2 महिला शामिल है।
 
बीती रात भी 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज कटघोरा से मिला था। जिसके बाद इलाके को पूरी तरह से लॉक डाउन कर दिया गया था।
 
उसके बाद अचानक से हुए इस वृद्धि ने स्वास्थ्य विभाग की नींद हराम कर रख दी है। बताया जा रहा है कि गुरुवार को जो 7 कोरोना पॉजिटिव मिले है, जो हाल ही में एक नाबालिग कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए। 
 
ध्यान रहे छत्तीसगढ़ में पहला कोरोना पाजिटिव मरीज की पहचान लंदन से लौटे युवती के रूप में 15 मार्च को हुकोआ था। उसके बाद यह संख्या कल तक 11 तक पहुंची थी, लेकिन  इन 7 लोगों को मिलाकर प्रदेश में अब तक कुल 18 पॉजिटिव केस हो गए।  इनमें से अब तक 9 कोरोना पाजिटिव ठीक होकर घर चले गए हैं। जबकि 9 का इलाज चल एम्स रायपुर में चल रहा है।