News Updates
Popular Articles
Videos
  • World AMR Awareness Week: How ethnoveterinary medicines combat antimicrobial resistance

  • India among top 5 countries on Climate Change Performance Index

शिक्षा पर अपना भी हक जताना चाहती हैं कश्मीर की ये लड़कियां

घरेलू हिंसा न केवल भारत की समस्या है, बल्कि पूरा विश्व इस भयावह स्थिति से गुजर रहा हैं

माहवारी से जुड़ी संकुचित सोच बदलने की जरूरत

कहने को तो माहवारी प्रकृति की देन है, परन्तु लोगो ने इसे परंपरा से ऐसा बांधा है कि यह गांठ खुलने का नाम ही नही ले रही है

बालों को सीधा करने वाले केमिकल से हो सकता है महिलाओं में गर्भाशय कैंसर

कई केमिकल जो स्ट्रेटनर में पाए जाते हैं जैसे कि पैराबीन, बिस्फेनोल-ए, मेटल्स, फार्मल्डिहाइड गर्भाशय कैंसर के बढ़ते जोखिम में योगदान दे सकते हैं

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस 2022: बाल विवाह की जद में एक करोड़ से अधिक लड़कियां

कोविड-19 महामारी का खतरनाक प्रभाव लड़कियों के लिए एक आर्थिक झटका है, स्कूल बंद होने और प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं में रुकावटों के कारण जल्दी शादी के भारी जोखिम में ...

भारतीय महिलाओं में खून की कमी के लिए जिम्मेवार है बढ़ता प्रदूषण

पीएम 2.5 में प्रति 10 माइक्रोग्राम क्यूबिक मीटर की वृद्धि भारत में 15 से 49 वर्ष की युवतियों और महिलाओं में एनीमिया के प्रसार को 7.63 फीसदी तक बढ़ा ...

ढह जाने के करीब है श्रीलंका में स्वास्थ्य व्यवस्था, गर्भवती महिलाओं के लिए स्थिति कहीं ज्यादा बदतर

श्रीलंका में इस समय करीब 2.2 लाख महिलाएं गर्भवती हैं, जिनमें से करीब 1.5 लाख महिलाएं ऐसी हैं जो अगले छह महीनों में अपने बच्चों को जन्म दे सकती हैं

किशोरावस्था में ही मातृत्व का बोझ उठाने को मजबूर हैं विकासशील देशों की एक-तिहाई महिलाएं

जो बच्चियां पहली बार 14 वर्ष या उससे कम उम्र में मां बनती हैं, उनमें से तीन-चौथाई संख्या उनकी है, जिनके दूसरे बच्चे का जन्म भी किशोरावस्था में ही ...

मानचित्र से समझें, देश में मातृ मृत्यु अनुपात के हालात

मातृ मृत्यु अनुपात में सुधार एक अच्छा संकेत जरूर है लेकिन यह एसडीजी लक्ष्य से काफी दूर है