Sign up for our weekly newsletter

News Updates
Popular Articles
Videos
  • SC Mande: It is too early to say that the UK’s SARS-CoV-2 variant is not in India

  • Paris Accord and beyond, what is the road to COP26 Glasgow?

सौर ऊर्जा

सौर ऊर्जा: लक्ष्य की ओर बढ़ने की बजाय पीछे चल रहा है भारत

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट की नई फैक्टशीट में सौर ऊर्जा की जमीनी हकीकत प्रस्तुत की गई है

सौर ऊर्जा

मेगा सोलर प्लांट पर क्यों है सरकार का ध्यान

एक ओर सरकार बड़े सोलर प्लांट पर ध्यान दे रही है, वहीं रूफटॉप सोलर एनर्जी के लक्ष्य से लगातार पिछड़ रही है

थर्मल

लॉकडाउन से बिजली की मांग 22 फीसदी गिरी, तमिलनाडु-गुजरात में सबसे ज्यादा असर

इंडिया रेटिंग एंड रिसर्च द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार मांग की कमी की वजह से बिजली का उत्पादन बुरी तरह प्रभावित हुआ। सबसे ज्यादा ...

सौर ऊर्जा

लॉकडाउन की वजह से सोलर पैनल तक पहुंची 8.3 फीसदी ज्यादा धूप: स्टडी

शोधकर्ताओं के अनुसार लॉकडाउन की वजह से हवा की गुणवत्ता में जो सुधारा आया, उसके चलते मार्च में सूर्य की 8.3 फीसदी ज्यादा धूप ...

पन बिजली

हाइड्रो पावर प्लांट से भी होता है पर्यावरण को नुकसान, एक अध्ययन में खुलासा

अब तक थर्मल की बजाय हाइड्रो (जल विद्युत) पावर को इसलिए प्रमुखता दी जाती है, क्योंकि इससे पर्यावरण को नुकसान नहीं होता, लेकिन नए ...

कार्बन डाइआक्साइड उत्सर्जन में पहले नंबर पर है पश्चिम बंगाल

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट ने कोयला  आधारित बिजली खरीद का राज्यवार आकलन  और विश्लेषण किया है

दुनिया की 5.6 करोड़ हेक्टेयर खाली पड़ी कृषि भूमि पर लगाए जा सकते हैं सोलर प्लांट

दुनिया भर में 8.3 करोड़ हेक्टेयर से ज्यादा कृषि भूमि खाली पड़ी है इस जमीन के करीब 68 फीसदी हिस्से पर सोलर प्लांट लगाए जा सकते हैं

सतत विकास लक्ष्य के लिए अक्षय ऊर्जा की नई तकनीकों को बढ़ावा देना जरूरी

अध्ययन में कहा गया है कि किस तरह हमें अक्षय ऊर्जा के सही उपयोग से पारिस्थितिक स्थिरता और संरक्षण के साथ कम कार्बन वाले भविष्य के लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में काम करना चाहिए।

बिहार और मेघालय की 40 फीसदी से कम आबादी कर रही है स्वच्छ ईंधन का उपयोग

देश में उज्ज्वला की सफलता के बावजूद बिहार और मेघालय जैसे राज्यों की बड़ी आबादी आज भी खाना पकाने के लिए एलपीजी और अन्य स्वच्छ ईंधनों की पहुंच से दूर है

बिहार में रोजाना 17 घंटे बिजली इस्तेमाल कर महज 20 फीसदी का बिल भुगतान : ईपीईसी

दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों के पास आसानी से बिजली की पहुंच का अभाव है। बिजली इस्तेमाल करके बिल भुगतान न करने की आदत ब्राजील, पाकिस्तान, दक्षिण कोरिया जैसे देशों में भी है। 

क्वांटम डॉट सोलर सेल की क्षमता को बढ़ाकर 11.53 फीसदी अधिक बिजली प्राप्त की

क्वांटम डॉट सौर सेल द्वारा सूर्य के प्रकाश से बिजली उत्पन्न करने की चुनौतियों को हल करके इसकी क्षमता को 11.53 फीसदी तक बढ़ाता है।

पीएम कुसुम योजना: सरकार ने एक साल बाद किए कई बदलाव

जुलाई 2019 में शुरू हुई प्रधानमंत्री कुसुम योजना अब तक सिरे नहीं चढ़ पा रही थी, इसलिए इसमें कई बदलाव किए गए हैं

वायु प्रदूषण और जलवायु की दोहरी चुनौती का समाधान है स्वच्छ कोयला पावर प्लांट का प्रोत्साहन

कोयला आधारित थर्मल पावर प्लांट से निकलने वाला फ्लाई एश एक बहुत ही बड़ी चुनौती है। वर्ष 2009-10 से 2018-19 तक इस फ्लाई ऐश में 70 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है।