News Updates
Popular Articles
Videos
  • Why is Indonesia changing it's capital?

  • Shockwaves of the submarine volcano in Tonga felt till Chennai

2050 में मछलियों के कुल वजन से भी ज्यादा होगा महासागरों में प्लास्टिक

अनुमान है कि महासागरों में पहुंच चुके कुल प्लास्टिक कचरे की मात्रा 2025 में करीब 25 करोड़ टन होगी, जो 2040 तक बढ़कर 70 करोड़ टन पर पहुंच जाएगी

महासागरों में प्रवेश करने से पहले बरसों तक नदियों में रहता है माइक्रोप्लास्टिक

यह पूरे जल प्रवाह में प्लास्टिक प्रदूषण के स्रोतों से ताजे या मीठे पानी में माइक्रोप्लास्टिक के मिलने और जमा होने के समय का पहला आकलन है।

कोई भी जगह नहीं बची जहां माइक्रोप्लास्टिक न मिला हो: अध्ययन

समुद्र तल से 2,877 मीटर की ऊंचाई पर 10,000 क्यूबिक मीटर हवा का परीक्षण किया गया जहां सभी नमूनों में माइक्रोप्लास्टिक मौजूद था

वैज्ञानिकों ने ई-कचरे के प्लास्टिक को दिया नया जीवन

प्रयोगशाला में सेल कल्चर के लिए पुन: उपयोग करने से न केवल ई- कचरे के प्लास्टिक से अधिकतम मूल्य वसूल होगा, बल्कि जैव चिकित्सा अनुसंधान से उत्पन्न प्लास्टिक कचरे ...

स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए बड़ा खतरा है कृषि में उपयोग हो रहा 1.25 करोड़ टन प्लास्टिक

कृषि से जुड़ी सप्लाई चेन में हर साल करीब एक करोड़ 25 लाख टन प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है जोकि स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए बड़ा खतरा है

प्लास्टिक 96 फीसदी कार्बन उत्सर्जन तथा 70 फीसदी स्वास्थ्य पर घातक असर के लिए है जिम्मेवार

शोधकर्ताओं ने दुनिया भर में 20 साल की अवधि के दौरान प्लास्टिक की आपूर्ति से जलवायु और स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों का विश्लेषण किया है।

व्हेल हर राेज निगल रही है लाखों की संख्या में माइक्रोप्लास्टिक

अध्ययन के मुताबिक हर बार जब व्हेल शिकार को पकड़ती हैं तो लगभग 25,000 माइक्रोप्लास्टिक को निगल लेती है।

बैठे ठाले: टाइटेनिक 2050

“इस ग्लोबल वार्मिंग के चलते सारे हिमशैल पिघल चुके हैं। जब हिमशैल ही नहीं होंगे तो जहाज किससे टकराएगा?”