News Updates
Popular Articles
Videos
  • Why is Indonesia changing its capital?

  • Shockwaves of the submarine volcano in Tonga felt till Chennai

जब 2.85 लाख आंगनबाड़ी केंद्रों और 38 हजार स्कूलों में नहीं है शौचालय तो कैसे खुले में शौच मुक्त हुआ भारत!

एक तरफ जहां देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है वहीं बड़े दुःख की बात है कि अभी भी 285,103 स्कूलों में हाथ धोने की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध नहीं ...

कैसे जीतेंगें कोरोना से जंग: 10 में से 3 लोगों के पास घर पर नहीं है हाथ धोने की पर्याप्त सुविधा

अनुमान है कि हाथों की स्वच्छता पर यदि प्रति व्यक्ति हर वर्ष एक डॉलर का निवेश किया जाता है तो उससे लाखों लोगों की जान बचाई जा सकती है

देश को कूड़ामुक्त बनाने का अभियान शुरू करेंगे मोदी

शहरी भारत रोजाना करीब 0.15 टन मिलियन ठोस कचरा पैदा करता है, जिसमें से केवल 68 फीसद नष्ट करने के लिए इकट्ठा किया जाता है

अभी भी खुले में शौच करते हैं दुनिया के 49.4 करोड़ लोग

2015 में देश की करीब 40 फीसदी ग्रामीण आबादी खुले में शौच करती थी, लेकिन 2020 में यह आंकड़ा घटकर 22 फीसदी रह गया ह

देश में अभी भी हैं 66,692 मैनुअल स्केवेंजर्स, पिछले साल हादसों में गई 19 की जान

देश में सबसे ज्यादा मैनुअल स्केवेंजर्स उत्तर प्रदेश में हैं जहां इनकी संख्या 37,379 है| जबकि इसके बाद महाराष्ट्र (7,378) और फिर उत्तराखंड (6,170) का नंबर आता है

स्वच्छ भारत मिशन से साल भर में हर परिवार को हुआ करीब 53,536 रुपए का फायदा

स्वच्छ भारत मिशन से होने वाला लाभ, उसपर 10 वर्षों के दौरान किये खर्च से करीब 4.3 गुना ज्यादा है

पर्यावरण मुकदमों की डायरी: मध्य प्रदेश में हो रहे अवैध खनन के मामले में एनजीटी ने जारी किया आदेश

पर्यावरण से संबंधित मामलों में सुनवाई के दौरान क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें- 

पर्यावरण मुकदमों की साप्ताहिक डायरी: सीवेज प्रदूषण के मामले में रिपोर्ट दाखिल करे यूपीपीसीबी: एनजीटी

देश के विभिन्न अदालतों में विचाराधीन पर्यावरण से संबंधित मामलों में बीते सप्ताह क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें –