Sign up for our weekly newsletter

News Updates
Popular Articles
Videos
  • 'Avartansheel Kheti' changing lives with periodic, proportionate farming

  • खेती-किसानी का यह नायाब तरीका आपको निहाल कर देगा

संक्रामक रोग

भारत से चेचक खत्म करने में इन महिलाओं की रही है बड़ी भूमिका

20वीं सदी में चेचक की वजह से लगभग 30 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी, भारत में 1970 में इसे रोकने का अभियान शुरू किया गया है और इन महिलाओं की वजह से इस पर बीमारी पर अंकुश लगा

बाल स्वास्थ्य

हीरे के खदानों में जाने वाली मजबूर माएं नहीं दे पा रही हैं अपने बच्चों को पोषण का खुराक

पन्ना जिला के धनौजा गांव में हीरा खदानों में काम करने वाली महिलाओं की स्वास्थ्य स्थिति खराब है। खदान में मजदूरी करने के दौरान स्वास…

बाल स्वास्थ्य

अमृत से कम नहीं है मां का दूध, गाय से 200 गुणा अधिक होता है जीएमएल

वैज्ञानिकों ने मां के दूध में एक ऐसे घटक 'जीएमएल' की मौजूदगी का पता लगाया है जो शिशुओं में हानिकारक बैक्टीरिया की वृद्धि को रोक देता ह…

बाल स्वास्थ्य

बच्चों के कुपोषण का कारण हैं इंस्टेंट नूडल्स: यूनिसेफ

यूनिसेफ की रिपोर्ट में कहा गया है मलेशिया, फिलीपींस, इंडोनेशिया जैसे देशों में बच्चों को कम कीमत और आसानी से बनने वाले नूडल्स दिया जा…

संक्रामक रोग

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, जल्द तैयार होगी टीबी की वैक्सीन

अभी दुनिया भर में टीबी की रोकथाम के लिए 1921 में तैयार वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन वैज्ञानिकों का दावा है कि वे जल्द ही नई व…

इलाज पर खर्च करने के कारण दिवालिया हो रहे हैं अमेरिकी

अमेरिका में मेडिकल बैंकरप्सी (स्वास्थ्य खर्च के कारण दिवालिया होना) की घटनाएं बढ़ी हैं। चार प्वाइंट्स में समझिए, क्या है मेडिकल बैंकरप्सी... 

वैज्ञानिकों ने बनाया नया टूल, डेंगू जैसी बीमारियों के फैलने से पहले हो जाएगी भविष्यवाणी

वैज्ञानिकों ने एक ऐसे उपकरण को बनाने में सफलता हासिल की है, जो संक्रामक रोगों के फैलने की भविष्यवाणी कर सकता है, इससे डेंगू जैसी बीमारियों को उनके स्रोत से ही ट्रैक कर सकते हैं

इंफेक्शन की वजह से सबसे ज्यादा बीमार होते हैं भारतीय: एनएसएसओ रिपोर्ट

रिपोर्ट में कहा गया है कि कैंसर के इलाज पर सबसे ज्यादा खर्च हो रहा है। साथ ही कहा गया है कि आर्थिक रूप से कमजोर मरीज अस्पताल में कम भर्ती होते हैं

पीपीपी मोड का इंतजार कर रही हैं उत्तराखंड की स्वास्थ्य सेवाएं

उत्तराखंड के सरकारी अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टर नहीं हैं। गर्भवती महिलाओं के लिए आईसीयू नहीं है। सीटी स्कैन मशीनें नहीं चल रही हैं, क्योंकि अस्पतालों को पीपीपी मोड पर चलाने की तैयारी है

एंटीबायोटिक रेजिस्टेंस का जवाब है बैक्टीरियोफेजेस, मिल सकता है टीबी का इलाज

दिल्ली के आचार्य नरेंद्र देव कॉलेज के छात्र बाहर से सैंपल इकट्ठा करके लाते हैं और बैक्टीरिया को मारने वाले बैक्टीरियोफेजेस को अलग करते हैं, ताकि टीबी का इलाज ढूंढ़ा जा सके

कम वजन की समस्या से सबसे अधिक ग्रस्त हैं दक्षिण एशिया के युवा: आईएफएडी

आईएफएडी द्वारा किये अध्ययन के अनुसार हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले अधिकांश युवा अपने कम वजन को लेकर परेशान हैं, लेकिन उनमें मोटापे और बढ़ते वजन की समस्या भी बढ़ती जा रही है