News Updates
Popular Articles
Videos
  • Is Monsoon 2022 on schedule?

  • Why is north India suffering from a fodder crisis

रिसर्च

साक्षात्कार: निगरानी हमें अपने ब्रह्मांडीय जड़ों को तलाशने में मदद करेगी

जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप से जुड़े एवी लोएब से बातचीत

रिसर्च

साल 2022 का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण, जिसे सुपर फ्लावर ब्लड मून कहा जाता है, विवरण यहां जानें

दुनिया ने रविवार यानी 15 मई को साल का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण देखा, ग्रहण की प्रक्रिया रविवार को रात 10:27 बजे (ईएसटी) से ...

रिसर्च

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, चांद की मिट्टी में भी फूटा अंकुर

इतिहास में पहली बार वैज्ञानिकों को चन्द्रमा से लाई मिट्टी में पौधे उगाने में सफलता हासिल हुई है, जोकि अपने आप में एक अनूठी ...

रिसर्च

रात में क्यों झुक जाती है पेड़ों की डालियां, वैज्ञानिकों ने लगाया पता

पता चला है कि रात के समय शाखाएं और पत्तियां अपने भीतर पानी जमा करती हैं, जिससे उनका वजन बढ़ जाता है और वो ...

रिसर्च

कार्बन डाइऑक्साइड को ऑक्सीजन में बदल सकती है चन्द्रमा की मिट्टी, सच होगा अंतरिक्ष में जीवन का सपना?

चन्द्रमा की मिट्टी में ऐसे यौगिक मौजूद हैं जिनमें लोहे और टाइटेनियम युक्त पदार्थ हैं। इन्हें सूर्य के प्रकाश और कार्बन डाइऑक्साइड की मदद ...

‘बैंगनी क्रांति’ के केंद्र डोडा जिले में लैवेंडर फेस्टिवल

कई दशकों के वैज्ञानिक हस्तक्षेप से, सीएसआईआर-आईआईआईएम जम्मू ने लैवेंडर की एक विशिष्ट किस्म (आरआरएल-12) और कृषि प्रौद्योगिकी विकसित की है

स्मार्टफोन ऐप से लगेगा मच्छरों का पता, मलेरिया से निपटने में मिलेगी मदद

इस तकनीक को ड्रोन और सैटेलाइट इमेज के साथ जोड़ा जाता है, जिससे पहले से अज्ञात मच्छरों के प्रजनन के स्थानों की पहचान की जाती है और उसी समय उनका खात्मा किया जाता है।

तनाव के माहौल में भी तेजी से बढ़ सकते हैं कुछ पौधे, क्या बदलते मौसम का भी कर सकते हैं सामना

जब विषम परिस्थितियों में अधिकांश पौधे एक तनाव हार्मोन का उत्पादन करते हैं, जो उनके विकास को धीमा कर देता है, लेकिन इसके विपरीत यह पौधा इस हार्मोन की प्रतिक्रिया में अपने विकास की गति को तेज कर देता

लिथियम-आयन बैटरी 5.6 मिनट में होगी 60 फीसदी चार्ज, वैज्ञानिकों ने खोजा तरीका

गैस से चलने वाले वाहनों को बैटरी से चलने वाले वाहनों में बदलने के पीछे का सबसे बड़ा रोड़ा बैटरी को रिचार्ज करने में लगने वाला समय है।