Sign up for our weekly newsletter

एनएसएसओ रिपोर्ट पर सवाल, बिहार की महज 1.1% ग्रामीण आबादी को मिल रहा नल से जल

बिहार सरकार ने इस आंकड़े को भ्रामक कहा है। सरकार ने कहा है कि बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में 40 से 45 प्रतिशत आबादी तक नल से जल पहुंच रहा है और मार्च 2020 तक बाकी घरों तक भी नल का जल पहुंच जाएगा

आदिवासियों के 75% गांवों में नहीं हैं स्वास्थ्य सेवाएं, 52% गांवों में नहीं हैं नल

केंद्र सरकार द्वारा लोकसभा को दी गई जानकारी के मुताबिक आदिवासियों के गांवों में बुनियादी ढांचागत सुविधाएं नहीं हैं 

जल संकट का समाधान: जातक युग की जल संपदा है आहर-पइन

सदियों पुरानी जल प्रणाली आहर-पइन उचित रख-रखाव के अभाव में वजूद खो चुकी थी। पिछले दशक में शुरू किए प्रयास से यह प्रणाली फिर से जीवित हो उठी है। इससे दक्षिण बिहार के किसानों को खेती के लिए पर्याप्त पानी मिलने लगा है

जल संकट का समाधान: विजयनगर के जल कौशल के अंग्रेज भी थे कायल

दक्षिण भारत के राजाओं ने तालाबों और बांधों की उत्तम व्यवस्था की और स्थानीय लोगों को भी इसके लिए प्रेरित किया

पानी की कमी के कारण एशिया में बढ़ सकता है बिजली संकट: स्टडी

जलवायु परिवर्तन और अत्याधिक पानी के दोहन के कारण निकट भविष्य में नदियां एशिया के कई हिस्सों से गायब हो सकती हैं, जिसके कारण बिजली संयंत्रों को ठंडा करने के लिए पर्याप्त पानी नहीं होगा

दिल्ली की प्यास बुझाने का दावा करने वाली लखवार परियोजना के प्रस्ताव को केंद्र की मंजूरी

ऐसा माना जाता है कि दिल्ली में पानी की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए बाहर से पानी लाने का यह आखिरी जरिया होगा।

नौले-धारों के साथ दम तोड़ रही है उत्तराखंड की परंपरा

हिमालयी राज्य उत्तराखंड में नौला और धारों का पानी पिया जाता था, लेकिन इनमें से अधिकांश सूख चुके हैं, जिसके साथ-साथ एक परंपरा भी खत्म होती जा रही है 

मीलों पानी ढोने वाली माएं खो देती हैं अपनी सेहत और बच्चे : रिसर्च

पहली बार पानी ढोने वाली महिलाओं के स्वास्थ्य प्रभाव को लेकर एक अंतरराष्ट्रीय शोध किया गया है। इसके परिणाम चिंताजनक हैं।