Subscribe to our weekly newsletter & Get notified about our latest articles.

जलवायु संकट
2020 में भारत में 40 लाख लोग हुए विस्थापित, चीन सबसे आगे

2020 में भारत में 40 लाख लोग हुए विस्थापित, चीन सबसे आगे

विश्व प्रवासन रिपोर्ट 2022 के मुताबिक, 2020 में जलवायु परिवर्तन की वजह से आ रही प्राकृतिक आपदाओं के चलते सबसे अधिक लोग विस्थापित हुए

ग्लोबल वार्मिंग
आर्कटिक में बर्फबारी पर हावी हो सकती है बारिश: अध्ययन

आर्कटिक में बर्फबारी पर हावी हो सकती है बारिश: अध्ययन

आर्कटिक दुनिया मैं बाकी जगहों की तुलना में बहुत तेजी से गर्म हो रहा है, जो कि समुद्री बर्फ को पिघला रहा है और ...

जल संकट
संसद में आज: केन-बेतवा लिंक परियोजना से 62 लाख लोगों को मिलेगा पीने का पानी

संसद में आज: केन-बेतवा लिंक परियोजना से 62 लाख लोगों को मिलेगा पीने का पानी

दिल्ली और पड़ोसी राज्यों में सल्फर और क्लोरीन का उच्च स्तर

सौर ऊर्जा
अगले पांच वर्षों में भारत की अक्षय ऊर्जा उत्पादन क्षमता में हो सकता है 86 फीसदी का इजाफा

अगले पांच वर्षों में भारत की अक्षय ऊर्जा उत्पादन क्षमता में हो सकता है 86 फीसदी का इजाफा

अनुमान है कि वैश्विक स्तर पर 2026 तक अक्षय ऊर्जा उत्पादन क्षमता 4,800 गीगावाट पर पहुंच जाएगी

तूफान
चक्रवात 'जवाद' 4 दिसंबर को पहुंचेगा आंध्र और ओडिशा के तटों पर,भारी बारिश के आसार

चक्रवात 'जवाद' 4 दिसंबर को पहुंचेगा आंध्र और ओडिशा के तटों पर, भारी बारिश के आसार

मौसम विभाग ने यह भी बताया है कि तूफान के चलते निचले इलाकों में बाढ़ और जलभराव हो सकता है

वायु प्रदूषण
इस तरह कम हो सकती हैं वायु प्रदूषण से होने वाली मौतें

कोयले से होने वाले प्रदूषण से हर साल मरते हैं 8 लाख लोग

शोध के मुताबिक हर साल कोयला संयंत्र से होने वाले प्रदूषण की वजह से 8 लाख से अधिक लोग समय से पहले मर जाते ...

आदिवासी
हसदेव अरण्य: भारतीय वन्य जीव संस्थान की रिपोर्ट की अनदेखी कर रही है छत्तीसगढ़ सरकार

हसदेव अरण्य: भारतीय वन्य जीव संस्थान की रिपोर्ट की अनदेखी कर रही है छत्तीसगढ़ सरकार

हसदेव अरण्य पर छत्तीसगढ़ सरकार ने जो रवैया अपनाया है, उससे सरकार की मंशा पर सवाल उठने लगे हैं

व्यापार/मंडी
केंद्र व छत्तीसगढ़ सरकार के बीच तकरार जारी, कैसे होगी धान की सरकारी खरीद

केंद्र व छत्तीसगढ़ सरकार के बीच तकरार जारी, कैसे होगी धान की सरकारी खरीद

केंद्र सरकार ने इस बार उसना चावल लेने से इंकार कर दिया है, जिसके चलते छत्तीसगढ़ सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं

NEWS

डाउन टू अर्थ हिंदी प्रिंट संस्करण

जैव विविधता
विक्षति की तुरपाई

साहित्य में पर्यावरण: विक्षति की तुरपाई

डाउन टू अर्थ, हिंदी का छठा वार्षिकांक पर्यावरण में साहित्य विषय पर समर्पित था। इस अंक में प्रकाशित अशोक वाजपेयी की कविता

जैव विविधता
वर्तमान पर्यावरण के संकट ने फिर से प्रकृति की ओर लौटने का अवसर दिया है

साहित्य में पर्यावरण: फिर से प्रकृति की ओर लौटने का अवसर

डाउन टू अर्थ, हिंदी का छठा वार्षिकांक पर्यावरण में साहित्य विषय पर समर्पित था। इस अंक में प्रकाशित अशोक वाजपेयी का आलेख

संक्रामक रोग
 हमें क्या नहीं भूलना चाहिए

हमें क्या नहीं भूलना चाहिए

डाउन टू अर्थ, हिंदी पत्रिका छठे वर्ष में प्रवेश कर चुकी है। पढि.ए, वार्षिकांक में लिखा गया पत्रिका की संपादक सुनीता नारायण का संपादकीय