News Updates
Popular Articles
Videos
  • Why is Indonesia changing its capital?

  • Shockwaves of the submarine volcano in Tonga felt till Chennai

कोयला से बनने वाली बिजली की इस साल रिकॉर्ड मांग, शून्य उत्सर्जन का रास्ता बेहद मुश्किल

2050 तक शून्य उत्सर्जन का लक्ष्य हासिल करना है मगर 2024 तक कॉर्बन उत्सर्जन वांछित से तीन जीगाटन ज्यादा बढ़ जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम क्यों नहीं चाहता कि फेडरल बैंक कोयला कंपनियों को कर्ज दे?

अंतरराष्ट्रीय संस्था ने जुलाई 2021 में मांग की थी कि भारत के 7वें सबसे बड़े कॉमर्शियल बैंक को कोयले के वित्तपोषण पर रोक लगा देनी चाहिए

कोयले की कमी: केंद्र का दावा - कोई संकट नहीं, लेकिन आंकड़ों में हकीकत अलग

आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि कोयला-पॉवर थर्मल स्टेशनों में रिजर्व कोयले में कमी आने की कई वजहें हैं

क्यों बिहार में कोल प्लांटों के बंद होने का स्वागत होना चाहिए?

बिहार सरकार ने वैकल्पिक ऊर्जा का लक्ष्य तय किया है, लेकिन क्या इसे हासिल करने के लिए गंभीर है

एशिया की सबसे बड़ी कोयला खदान के विस्तार को क्यों नहीं मिली मंजूरी?

कंपनी ने खदान की उत्पादन क्षमता 49 मिलियन टन से बढ़ाकर 70 मिलियन टन करने का प्रस्ताव रखा था

2015 से अब तक 326 गीगावाट क्षमता की थर्मल पावर परियोजनाओं को रद्द कर चुका है भारत

हालांकि अभी भी देश में करीब 21 गीगावाट क्षमता की कोयला आधारित बिजली परियोजनाएं प्रस्तावित हैं, जबकि 34 गीगावाट क्षमता की परियोजनाएं निर्माण के विभिन्न चरणों में हैं

‘कोयला धारक क्षेत्र (अर्जन और विकास) अधिनियम, 1957’ में प्रस्तावित संशोधन के मायने

चालू संसद सत्र में सरकार ‘कोयला धारक क्षेत्र (अर्जन और विकास) अधिनियम, 1957’ में संशोधन हेतु एक बिल ला रही है

क्यों एनटीपीसी थर्मल प्लांट को बंद कराना चाहते हैं कहलगांव के लोग?

सरकार के नियम के मुताबिक, 25 साल में पावर प्लांट बंद हो जाने चाहिए, लेकिन कहलगांव का पावर प्लांट अब तक चलाया जा रहा है