Sign up for our weekly newsletter

News Updates
Popular Articles
Videos
  • SC Mande: It is too early to say that the UK’s SARS-CoV-2 variant is not in India

  • Paris Accord and beyond, what is the road to COP26 Glasgow?

बूंदों की संस्कृति

खत्म हो रही है एक पारंपरिक सिंचाई प्रणाली, कौन है जिम्मेवार

महाराष्ट्र में खेतों तक पानी पहुंचाने वाली यह पारंपरिक व्यवस्था गन्ने की खेती और सरकारी उपेक्षा की कीमत चुका रही है

बूंदों की संस्कृति

जल की अग्निपरीक्षा

स्थानीय समुदाय को जल संरचनाओं का स्वामित्व देना, लोकतंत्र को मजबूत करना और शक्तियों का हस्तांतरण। इससे जल का कुप्रबंधन रोका जा सकता है

जल संकट

विश्व जल दिवस: जलवायु परिवर्तन से बढ़ेगी बाढ़-सूखे की घटनाएं, खाद्य सुरक्षा पर संकट

संयुक्त राष्ट्र की विश्व जल विकास रिपोर्ट कहती है कि आने वाले समय में जलवायु परिवर्तन की वजह से पानी या तो अधिक होगा ...

जल संकट

जलशक्ति अभियान की हकीकत: जलसंकट की ओर बढ़ता बाढ़ प्रभावित जिला

बिहार के कटिहार जिले में सालाना औसत वर्षा 1022-1210 एमएम वर्षा होती है, लेकिन इसमें से कितना वर्षा जल संचय होता है इसका कोई ...

जल संरक्षण

जलशक्ति अभियान की हकीकत: खेत की मेढ़ों से पानी की किल्लत दूर कर रहे महोबा के किसान

उत्तरप्रदेश का महोबा जिला बुंदेलखंड इलाके में शामिल है जहां पानी की काफी किल्लत है। इसे दूर करने के लिए प्रशासन और नागरिकों ने ...

महासागरों में भूजल का बहाव महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है: अध्ययन

शोधकर्ताओं ने दुनिया भर के 20 स्थलों पर तटीय भूजल में पांच प्रमुख तत्वों -लिथियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, स्ट्रोंटियम और बेरियम को मापने वाले सांद्रता और आइसोटोप अनुपातों का पता लगाया।

भूजल नीति : खारे पानी की निकासी के लिए उद्योग और परियोजनाओं का शुल्क माफ

सीजीडब्ल्यूबी की छूट भू-गर्भ से खारे पानी के निकासी को गति देगा, लेकिन ईकाइयों के जरिए यदि यह खारा पानी बिना योजना के जस का तस बहाया गया तो पर्यावरण को नुकसान भी संभव है। 

दुनिया भर में तीन अरब से अधिक लोग पानी की गंभीर कमी का सामना कर रहे हैं : एफएओ

रिपोर्ट में कहा गया है कि बेहतर जल प्रबंधन वैश्विक खाद्य सुरक्षा और पोषण सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है, यह सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने में अहम योगदान देगा।

पर्यावरण मुकदमों की डायरी: जल निकायों के संरक्षण के लिए नोडल एजेंसी नियुक्त होगी

देश के विभिन्न अदालतों में विचाराधीन पर्यावरण से संबंधित मामलों में क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें-

पर्यावरण मुकदमों की डायरी: ओमेक्स की आवासीय परियोजना के कारण नदी का प्राकृतिक प्रवाह रुका

देश के विभिन्न अदालतों में विचाराधीन पर्यावरण से संबंधित मामलों में क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें-

पर्यावरण मुकदमों की डायरी: हाईवे के किनारे बढ़ते अतिक्रमण पर एनएचएआई ने दायर किया हलफनामा

पर्यावरण से संबंधित मामलों में सुनवाई के दौरान क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें-

चंद्रपुरा थर्मल पावर स्टेशन से हुए तेल रिसाव के मामले में समिति रिपोर्ट में दी गई गलत जानकारी: रिपोर्ट

पर्यावरण से संबंधित मामलों में सुनवाई के दौरान क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें-

खत्म होने के कगार पर है 15वीं शताब्दी में विकसित एक प्राचीन और वैज्ञानिक व्यवस्था

15वीं शताब्दी में विकसित खड़ीन को समाज और सरकार दोनों ने भुला दिया