Sign up for our weekly newsletter

News Updates
Popular Articles
Videos
  • The link between climate change and the snow leopard

  • Tibetan snow lion is a symbol of political authority: Jamyang Norbu

वन अधिकार

अपनी जन्मभूमि में 'अपराधी' बन कर रह रहे हैं आदिवासी

आदिवासी कहते हैं कि धीरे-धीरे हमें विश्वास होता गया कि अपनी चुनी हुई सरकार और सरकार की चुनी हुई कंपनी में कोई भी अब अपना नहीं है

जैव विविधता

लुप्त होती जा रही प्रजातियां को बचा सकते हैं संरक्षित क्षेत्र

क्वींसलैंड विश्वविद्यालय के नेतृत्व वाली शोध टीम ने खुलासा किया है कि कई लुप्तप्राय स्तनपायी प्रजातियां संरक्षित क्षेत्रों पर निर्भर हैं। संरक्षित क्षेत्रों के ...

जैव विविधता

अजब-गजब: सबसे गर्म ल्यूट रेगिस्तान के ताजे पानी में खोजी गई क्रस्टेशिया की नई प्रजाति

नई पहचानी गई प्रजातियां जीनस फालोक्रिप्टस से संबंध रखती है

जैव विविधता

कैसे कूड़ा और सड़कें बनी लुप्तप्राय आर्कटिक लोमड़ी की जान के लिए आफत

ऊंचे पहाड़ों पर रहने वाले जानवरों की प्रजातियों के आवास, सड़कों के निर्माण के कारण लगातार कम और खत्म हो रहे हैं

वन

मैंग्रोव वनों के संरक्षण के प्रयासों से दिखी कार्बन संग्रहण में बढ़ोत्तरी: अध्ययन

अध्ययन से पता चलता है कि वास्तव में दुनिया भर में वनों की कटाई को धीमा करने में काफी सफलता मिली है

मध्यप्रदेश का 40 फीसदी जंगल निजी कंपनियों को देने का फैसला

मध्यप्रदेश सरकार ने बिगड़े वन क्षेत्र को दोबारा से घने जंगल में तब्दील करने के लिए निजी कंपनियों से हाथ मिलाने का निर्णय लिया है

पर्यावरण मुकदमों की डायरी: कछुओं के अंडे देने के मौसम में गोवा के समुद्री तट से अतिक्रमण हटाने के आदेश

देश के विभिन्न अदालतों में विचाराधीन पर्यावरण से संबंधित मामलों में क्या कुछ हुआ, यहां पढ़ें-

वो हरसिंगार का पेड़ और मौन संवाद

शायद ही कोई ऐसा इंसान हो, जिसने हरसिंगार के फूलों की मनमोहक आभा को महसूस न किया हो

16 महीने में 17 देशों की यात्रा करने वाले मंगोलियाई कुकू पक्षी ओनन को बेहद रास आया भारत

मंगोलियाई कुकू ओनन पक्षी शायद अब जीवित नहीं है लेकिन उसने प्रवास के लिए मंगोलिया से अफ्रीका का जो रास्ता चुना वह संरक्षणकर्ताओं के लिए एक नई रणनीति तय करने वाला है।

नए युग में धरती: क्या सतत विकास लक्ष्य आएंगे काम

जैव विविधता के लक्ष्यों से पिछड़ने का मतलब है, गरीबी, भुखमरी, स्वास्थ्य, पानी, शहरों, जलवायु, महासागर और भूमि से संबंधित लक्ष्यों में बाधा

नए युग में धरती: हिंद महासागर का समुद्री घोंघा हो सकता है पहला शिकार

एंथ्रोपोसीन यानी मानव युग में कई प्रजातियां विलुप्त होती जा रही है, जिसके लिए कहीं न कहीं इंसान ही जिम्मेवार है

नए युग में धरती: सॉफ्ट शैल कछुआ प्रजाति की अंतिम मादा खत्म

2015 से लगातार कृत्रिम गर्भाधान कराने के प्रयास हुए लेकिन उसकी मौत के साथ ये सभी प्रयास धरे के धरे रह गए