News Updates
Popular Articles
Videos
  • AAD2024: Is there enough action to combat climate change? Conversation with Nitin Desai

  • Anil Agarwal Dialogue 2024: Welcome Note

सरकारी उपक्रमों ने 1.17 लाख टन कार्बन उत्सर्जन में कमी की

ऊर्जा संबंधी दक्षता से जुड़े इन उपायों को अपनाने से इन उपक्रमों ने कुल 14.34 करोड़ किलोवाट घंटा की ऊर्जा बचत की 

मनमर्जी से केरोसिन की कीमतें तय नहीं कर सकती तेल कंपनियां, केंद्र को लेना होगा निर्णय: कलकत्ता उच्च न्यायालय

दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि विशेष आयोजनों के दौरान आवारा कुत्तों को पकड़ने और छोड़ने की कार्रवाई में नियमों का सख्ती से पालन किया जाए

हर घर में स्वच्छ ईंधन से पकाया जाए खाना तो हर साल बच सकती हैं 25 लाख जिंदगियां

ईंधन संग्रह करने और खाना पकाने में महिलाएं और बच्चियों को औसतन हर दिन पांच घंटे का समय लगता है। जो कई महिलाओं को शिक्षा, रोजगार, मनोरंजन के साथ ...

गैस की बजाय लकड़ी, उपले, पेड़ों की छालों को जलाकर खाना बना रहे हैं 47 फीसदी ग्रामीण

एलपीजी कनेक्शन के बड़े पैमाने पर वितरण के बावजूद ग्रामीण भारत के लगभग आधे परिवार स्वच्छ ईंधन के इस विकल्प से दूर हैं

तेल पाइपलाइनों के विकास के मामले में अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर भारत, 2,824 किलोमीटर में कर रहा है विस्तार

देश में 1,630 किलोमीटर लम्बी तेल परियोजना निर्माण के विभिन्न चरणों में है, जबकि 1,194 किलोमीटर लम्बी न्यू मुंद्रा-पानीपत आयल पाइपलाइन परियोजना प्रस्तावित है 

ऊर्जा दक्षता के मामले में अव्वल रहा कर्नाटक, आंध्र, तेलंगाना, केरल और राजस्थान का प्रदर्शन भी रहा बेहतर

यदि असम को छोड़े दें तो ऊर्जा दक्षता के मामले में किसी भी उत्तर-पूर्वी राज्य का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। नगालैंड और मणिपुर को तो इस इंडेक्स में केवल ...

जाने कैसे 24 वर्षों में साकार हो सकता है भारत का ऊर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने का सपना

ऊर्जा क्षेत्र में यह आत्मनिर्भरता पर्यावरण के साथ-साथ उपभोक्ताओं के लिए भी फायदेमंद होगी, इससे 2047 तक उपभोक्ताओं को 205.8 लाख करोड़ रुपए का फायदा पहुंचेगा

भारत को एक गोबर मंत्री की जरूरत है

अनिल अग्रवाल सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट और डाउन टू अर्थ पत्रिका के संस्थापक हैं। उनका 2 जनवरी, 2002 को निधन हो गया था। पत्रिका के 16 से 31 ...