Sign up for our weekly newsletter

चीन के बाद दूसरे देशों में फैला कोरोनावायरस , भारत में 7 हवाई अड्डों पर नजर

फ्रांस, मलेशिया, आस्ट्रेलिया में कोरोनावायरस के मामलों की पुष्टि हुई है, चीन में अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है

By Banjot Kaur

On: Sunday 26 January 2020
 
Photo: nycjim/twitter
Photo: nycjim/twitter Photo: nycjim/twitter

चीन के बाद फ्रांस, मलेशिया, आस्ट्रेलिया में कोरोनावायरस के मामलों की पुष्टि हुई है। फ्रांस ने तीन मामलों की पुष्टि की है। वहीं, चीन में नोबल कोरोनावायरस के 1372 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या 41 बताई गई है। सबसे अधिक 38 लोग वहुान में मरे हैं।

चीन के प्रमुख समाचार पत्र चाइना डेली में बताया गया है कि राजधानी बीजिंग में नगरपालिका अधिकारियों ने घोषणा की है कि संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी एक दूसरे शहरों को जोड़ने वाली सड़कों पर परिवहन सेवाएं फिलहाल रोक दी गई हैं। दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले 10 से अधिक शहर पहले से ही नजरबंद जैसे हालात झेल रहे हैं।

चीन के बाहर थाईलैंड में पांच मामलों की पुष्टि हुई है। मलेशिया, फ्रांस, जापान और सिंगापुर में तीन-तीन मामले सामने आए हैं। दक्षिण कोरिया, मकाऊ, वियतनाम और संयुक्त राज्य अमेरिका में दो और ऑस्ट्रेलिया और नेपाल में एक-एक मामले सामने आए हैं।

हांगकांग की सरकार ने हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा की है। वुहान के लिए उड़ानें बंद कर दी गई हैं, स्कूलों को बंद कर दिया गया है, वहां हाई-स्पीड रेल नेटवर्क पर भी प्रतिबंध लागू हैं। वहां अब तक पांच मामलों की पुष्टि हुई है।

भारत में 11 लोगों को निगरानी में रखा गया था, उनमें से चार लोगों के सैंपल नेगेटिव आए हैं। केंद्र सरकार ने अपने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की सात टीमों से समीक्षा कराने का निर्णय लिया, जो किसी भी आपात स्थिति में अंत तक की तैयारियां का ब्यौरा तैयार कर रही हैं।

मल्टी-डिसिप्लिनरी टीमें उन राज्यों को भेजी गई हैं, जहां सात प्रमुख हवाई अड्डों - नई दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोच्चि में थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। टीमें अस्पतालों में स्क्रीनिंग, आइसोलेशन वार्डों, चिकित्सा कर्मियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षात्मक उपकरण आदि की समीक्षा करेंगी। वे यह भी जांचेंगी कि क्या संक्रमण-नियंत्रण दिशानिर्देशों का पालन किया जा रहा है। मंत्रालय ने 24 जनवरी को कहा कि 12 और हवाई अड्डों पर भी स्क्रीनिंग शुरू की गई।