Sign up for our weekly newsletter

मौसम अपडेट: चक्रवाती तूफान तौकते से तबाही के आसार, जाने देश के किन हिस्सों पर पड़ेगा असर

पश्चिमी राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में गरज के साथ बौछारें पड़ने तथा 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से धूल भरी आंधी चलने की आशंका है।

By Dayanidhi

On: Sunday 16 May 2021
 
मौसम अपडेट: चक्रवाती तूफान तौकते से तबाही के आसार, जाने देश के किन हिस्सों पर पड़ेगा असर
Source : India Meteorological Department (IMD) Source : India Meteorological Department (IMD)

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर गंभीर चक्रवाती तूफान "तौकते" जिसे "ताउते" भी कहा जाता है, यह आज, 16 मई को 02:30 बजे के दौरान बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल गया है।

पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर चक्रवाती तूफान "तौकते" या  "ताउते" पिछले 06 घंटों के दौरान लगभग 11 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर की ओर बढ़ रहा है और आज, 16 मई, 2021 के 05:30 बजे अरब सागर, पंजिम-गोवा से लगभग 130 किमी, पश्चिम-दक्षिण पश्चिम, मुंबई से 450 किमी दक्षिण, वेरावल (गुजरात) से 700 किमी दक्षिण, दक्षिण पूर्व और कराची (पाकिस्तान) से 840 किमी दक्षिण-पूर्व में है।

अगले 24 घंटों के दौरान इसके और तेज होने की संभावना है। इसके उत्तर, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 17 मई की शाम को गुजरात तट तक पहुंचने और 18 मई की सुबह के आसपास पोरबंदर और भावनगर जिले के महुवा के बीच गुजरात तट को पार करने का अनुमान है। 

"तौकते" या  "ताउते" के प्रभाव के चलते, 15 तारीख को केरल और कर्नाटक के तटीय और आसपास के घाट जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भयंकर बारिश होने और 16 तारीख को इसी क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।

दक्षिण कोंकण और गोवा में कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश होने की आशंका है और 15 मई को उत्तरी कोंकण में अलग-अलग जगहों पर भयंकर बारिश होने का अनुमान है। 16 मई को कोंकण और गोवा और आसपास के घाट क्षेत्रों में कुछ स्थानों में बहुत भारी बारिश की आशंका है।

सौराष्ट्र और कच्छ में अलग-अलग स्थानों पर भयंकर बारिश होने और 17 मई को सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। 18 मई को इन जगहों के अलग-अलग हिस्सों में 20 सेमी तक मूसलाधार बारिश होने का अनुमान है।

खगोलीय ज्वार से लगभग 1-2 मीटर ऊंची लहर आने की वजह से मोरबी, कच्छ, देवभूमि द्वारका, जामनगर, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर के तटीय क्षेत्रों के जलमग्न होने का अनुमान है। लैंडफॉल के समय गुजरात के शेष तटीय जिलों में 0.5 से 1 मी ऊंची ज्वार आने का अनुमान है।

मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि वे 18 मई तक पूर्वी मध्य अरब सागर के साथ-साथ कर्नाटक तट, पूर्व-मध्य अरब सागर, महाराष्ट्र-गोवा के तटों के साथ-साथ, गुजरात तट के पूर्व-मध्य और आस-पास के पूर्वोत्तर अरब सागर में न जाएं। 

कल कहां हुई भारी बारिश और कहां पड़ी बौछारें

बीते दिन यानी 15 मई को, 8:30 से 5:30 बजे के दौरान तटीय कर्नाटक, केरल, महींद लक्षद्वीप में अधिकांश स्थानों पर, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में कई स्थानों पर, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में कुछ स्थानों पर और हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उत्तर-पश्चिम राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, उत्तर और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा में अलग-अलग स्थानों में बारिश हुई तथा कई जगहों पर गरज के साथ बौछारें पड़ी।

कल कहां कितनी वर्षा रिकॉर्ड की गई

कल यानी 15 मई को 8:30 बजे से 5:30 बजे के दौरान पनम्बुर में 6 सेमी, तिरुवनंतपुरम और कोच्चि प्रत्येक जगह में 4 सेमी, खोज़ीकुडे में 3 सेमी, अलापुझा, होनावर, गडग और डिब्रूगढ़ हर जगह 2 सेमी और अमिनी देवी, मिनिकॉय, कारवार, त्रिशूर, कुन्नूर और करनाल प्रत्येक जगह 2 सेमी वर्षा रिकॉर्ड की गई।

कल कहां चली आंधी और कहां पड़ी गरज के साथ बौछारें

15 मई को 8:30 बजे के दौरान जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, उत्तराखंड, पश्चिम राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय इलाकों, असम, त्रिपुरा, ओडिशा में अलग-अलग स्थानों पर, तटीय आंध्र प्रदेश, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, उत्तर आंतरिक कर्नाटक, केरल और माहे और तमिलनाडु में बारिश हुई तथा गरज के साथ बौछारें पड़ी, इन जगहों पर आज 5:30 बजे के दौरान इसी तरह की गतिविधि के आसार बन रहे हैं।

सबसे अधिक तापमान

कल यानी 15 मई को शाजापुर (पश्चिम मध्य प्रदेश) में अधिकतम तापमान 43.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

सबसे कम तापमान

कल यानी 15 मई को देश के मैदानी इलाकों में बुलसर (गुजरात) में न्यूनतम तापमान 19.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

देश में कैसा रहेगा आज का मौसम

Source : IMD

16 मई, आज पूर्वी राजस्थान और मध्य प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने और 40-50 किमी प्रति घंटे तक की गति की तेज हवाओं के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान है। मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल और माहे, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख में अलग-अलग स्थानों में, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और लक्षद्वीप में अलग-अलग जगहों पर बिजली गिरने और 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से तेज हवाएं चलने तथा गरज के साथ बौछारें पड़ने के आसार बन रहे हैं।

आज कहां चलेगी धूल भरी आंधी

पश्चिमी राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में गरज के साथ बौछारें पड़ने तथा 30-40 किमी प्रति घंटे की दर से धूल भरी आंधी चलने की आशंका है। 

आज कहां हो सकती है भयंकर बारिश

आज कोंकण और गोवा में कुछ स्थानों पर और केरल और माहे और कर्नाटक के तटीय और आसपास के घाट के अलग-अलग हिस्सों में भयंकर बारिश होने और मध्य महाराष्ट्र, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा का अनुमान है।

तूफानी हवाएं चलने की चेतावनी

16 मई आज सुबह से ही पूर्व-मध्य अरब सागर में 120-130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा की गति के 145 किमी प्रति घंटे तक पहुंचकर आंधी में बदलने की आशंका है। महाराष्ट्र और गोवा तट पर 60-70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी जिसकी गति के 80 किमी प्रति घंटे तक  पहुंचने का अनुमान है। पूर्व मध्य अरब सागर में समुद्र की स्थिति सामान्य नहीं रहेगी, महाराष्ट्र और गोवा के तटों के पर ऊंची-ऊंची लहरें उठने की आशंका है।

उपरोक्त के चलते पूर्व-मध्य और आसपास के दक्षिण-पूर्वी अरब सागर से जुड़े केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र में मछली पकड़ने पर पूर्ण तरीके से पाबंदी है।

इसी तरह 17 मई से पूर्वोत्तर अरब सागर और गुजरात तट के साथ-साथ मछली पकड़ने के काम को पूरी तरह से निलंबित कर दिया गया है।

मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे दक्षिण-पूर्व अरब सागर, लक्षद्वीप-मालदीव के इलाकों, कर्नाटक तट के साथ-साथ पूर्व मध्य अरब सागर, महाराष्ट्र-गोवा तटों, गुजरात के साथ-साथ पूर्व-मध्य और आस-पास के उत्तर-पूर्व अरब सागर में 18 मई तक न जाएं।