Sign up for our weekly newsletter

खरीफ 2020-21 के दौरान 144.52 मिलियन टन रिकॉर्ड खाद्यान्‍न उत्‍पादन का अनुमान

कृषि वर्ष 2020-21 के लिए अधिकांश फसलों का उत्पादन उनके सामान्य उत्पादन से अधिक होने का अनुमान लगाया गया है

By DTE Staff

On: Wednesday 23 September 2020
 
खरीफ सीजन 2020-21 के पहले अनुमान में 102.36 मिलियन टन चावल के उत्पादन की बात कही गई है। फोटो: मीता अहलावत
खरीफ सीजन 2020-21 के पहले अनुमान में 102.36 मिलियन टन चावल के उत्पादन की बात कही गई है। फोटो: मीता अहलावत खरीफ सीजन 2020-21 के पहले अनुमान में 102.36 मिलियन टन चावल के उत्पादन की बात कही गई है। फोटो: मीता अहलावत

कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग ने 2020-21 की प्रमुख खरीफ फसलों के उत्पादन के पहले अग्रिम अनुमान जारी किए हैं। अनुमान है कि खरीफ सीजन में देश में कुल 144.52 मिलियन (14.45 करोड़) टन खाद्यान्न का उत्पादन होगा। विभाग ने इस उत्पादन को रिकॉर्ड बताया है। विभाग का कहना है कि 2020-21 के दौरान खरीफ चावल का कुल उत्पादन 102.36 मिलियन टन होने का अनुमान है, जबकि साल 2018-19 में खरीफ सीजन में 102.04 मिलियन टन चावल का उत्पादन हुआ था। 

विभाग की ओर से जारी सूचना के मुताबिक इस वर्ष के दक्षिण-पश्चिम मानसून मौसम के दौरान 16 सितंबर, 2020 तक संचयी वर्षा दीर्घ अवधि औसत (एलपीए) से 7 प्रतिशत अधिक रही। इसके चलते अधिकांश प्रमुख फसल उत्पादक राज्यों में सामान्य वर्षा देखी गई है। कृषि वर्ष 2020-21 के लिए अधिकांश फसलों का उत्पादन उनके सामान्य उत्पादन से अधिक होने का अनुमान लगाया गया है। हालांकि, ये अनुमान राज्यों से आगे मिलने वाली जानकारी के आधार पर संशोधित होंगे।

2020-21 के लिए पहले अग्रिम अनुमानों (केवल खरीफ) के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन 144.52 मिलियन टन होने का अनुमान है। 2020-21 के दौरान उत्पादन पिछले पांच वर्षों के औसत खाद्यान्न उत्पादन (2014-15 से 2018-19) के मुकाबले 9.83 मिलियन टन अधिक है।

2020-21 के दौरान खरीफ चावल का कुल उत्पादन 102.36 मिलियन टन होने का अनुमान है। यह पिछले पांच वर्षों के औसत उत्पादन 95.66 मिलियन टन की तुलना में 6.70 मिलियन टन अधिक है।

पोषक तत्वों / मोटे अनाजों का उत्पादन 32.84 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो 31.39 मिलियन टन के औसत उत्पादन की तुलना में 1.45 मिलियन टन अधिक है।

2020-21 के दौरान कुल खरीफ दालों का उत्पादन 9.31 मिलियन टन होने का अनुमान है। यह 2019-20 (चौथे अग्रिम अनुमान) में 7.72 मिलियन टन दालों के उत्पादन की तुलना में 1.59 मिलियन टन अधिक है।

देश में 2020-21 के दौरान कुल खरीफ तिलहन उत्पादन 25.73 मिलियन टन होने का अनुमान है जो 2019-20 के दौरान उत्पादन की तुलना में 3.41 मिलियन टन अधिक है। इसके अलावा, 2020-21 के दौरान तिलहन का उत्पादन औसत तिलहन उत्पादन की तुलना में 5.90 मिलियन टन अधिक है।

देश में 2020-21 के दौरान गन्ने का कुल उत्पादन 399.83 मिलियन टन होने का अनुमान है। 2020-21 के दौरान गन्ने का उत्पादन औसतन 360.43 मिलियन टन गन्ने के उत्पादन की तुलना में 39.40 मिलियन टन अधिक है।

कपास का उत्पादन 37.12 मिलियन गांठ (प्रत्येक 170 किलो) अनुमानित है, 2019-20 के दौरान 35.49 मिलियन गांठ के उत्पादन की तुलना में 1.63 मिलियन गांठ अधिक है। जूट और मेस्टा का उत्पादन 9.66 मिलियन गांठ (प्रत्येक 180 किलोग्राम) होने का अनुमान है।